Sports

2011 विश्‍व कप टीम का हिस्‍सा था ये खिलाड़ी, आज बस चलाकर जिंदगी गुजारने को मजबूर

नई दिल्‍ली: जिंदगी आपको कब किस मोड़ पर ले जाए, इसके बारे में कोई कह नहीं सकता। भारतीय टीम में चयन होते ही खिलाड़ी करोड़पति बन जाते हैं, लेकिन दुनिया में कई देश ऐसे भी हैं, जहां के क्रिकेटर रिटायरमेंट के बाद जिंदगी गुजारने के लिए दिहाड़ी करने को मजबूर हो जाते हैं। ऐसी ही एक कहानी श्रीलंका के पूर्व क्रिकेटर सूरज रणदीव की है।
सूरज रणदीव कभी श्रीलंकाई क्रिकेट टीम के नियमित सदस्य थे, लेकिन वर्तमान में वह मेलबर्न, ऑस्ट्रेलिया में रह रहे हैं। जहां पर वह आपको बस चलाते हुए मिल जाएंगे। रणदीव मेलबर्न में बस ड्राइवर के रूप में काम करने वाले एकमात्र पूर्व क्रिकेटर नहीं हैं। श्रीलंका के एक अन्य पूर्व क्रिकेटर चिन्तका जयसिंघे और जिम्बाब्वे के वेडिंगटन मेंगेंगा की यहां एक ही बस कंपनी के लिए काम करते हैं। तीनों पूर्व अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेटर ट्रांसदेव नामक कंपनी के लिए काम करते हैं, जिनके पास करीब विभिन्न व्यवसायों में लगभग 1200 ड्राइवर है। दाएं हाथ के ऑफ स्पिनर रणदीव का ऑस्ट्रेलिया जाने से पहले श्रीलंका के लिए एक अच्छा कैरियर था। वह श्रीलंका के 2011 एकदिवसीय विश्व कप टीम का हिस्सा थे और उन्होंने भारत के खिलाफ फाइनल भी खेला था, जिसे एमएस धोनी एंड कंपनी ने छह विकेट से जीता था।
रणदीव ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास की घोषणा करने से पहले श्रीलंका के लिए 12 टेस्ट, 31 वनडे और 7 टी-20 मुकाबले खेले। उन्होंने तीनों प्रारूपों में क्रमश: 43, 36 और 7 विकेट चटकाए। ऑफ स्पिनर इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) में चेन्नई सुपर किंग्स (CSK) के लिए भी खेले।
उनका मेलबर्न में एक स्थानीय क्लब के लिए क्रिकेट खेलना जारी है और वर्तमान में डैंडेनॉन्ग क्रिकेट क्लब का प्रतिनिधित्व करता है, जो क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया की राज्य प्रतियोगिताओं में भी भाग लेता है। 36 वर्षीय ने खुलासा किया कि हाल ही में क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया द्वारा उन्हें नेट्स में ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों को गेंदबाजी करने के लिए बुलाया गया था ताकि उन्हें जनवरी में होने वाली भारत टेस्ट सीरीज की तैयारी में मदद मिल सके।
रणदीव ने 9 न्यूज को बताया, ”मुझे सीए ने अपने गेंदबाजों के खिलाफ आने और गेंदबाजी करने के लिए कहा था और मैं इस मौके को गंवाना नहीं चाहता था।” रणदीव श्रीलंका के 2011 विश्व कप टीम का हिस्सा थे, चिन्‍तका जयसिंघे ने श्रीलंका के लिए पांच टी-20 मुकाबले खेले और 49 रन बनाए। मुवेन्गा ने 2002 में पाकिस्तान के खिलाफ अपना वनडे डेब्यू किया और अपने देश के लिए तीन एकदिवसीय और एक टेस्ट मैच खेले।

Leave a Reply

Your email address will not be published.