political

मुख्यमंत्री डाॅ. रमन सिंह ने भानपुरी क्षेत्र को दी 50 करोड़ रुपए से अधिक के विकास कार्यों की सौगात

जगदलपुर, दिनांक 13 मई 2018/विकास यात्रा के दूसरे दिन भानपुरी में आयोजित आमसभा में मुख्यमंत्री डाॅ. रमन सिंह ने 50 करोड़ रुपए से अधिक के विकास कार्यों की सौगात दी। उन्होंने 49 करोड़ 76 लाख रुपए के कोसारटेडा समूह जल प्रदाय योजना, सहित 42.82 लाख रुपए के छिंदगांव के नलजल, 39.37 लाख रुपए के बड़े आमाबाल के नलजल और 38.06 लाख रुपए की लागत के पाहुरबेल नलजल योजना का लोकार्पण किया। इसके साथ ही उन्होंने यहां 3364 हितग्राहियों को आबादी पट्टा, खाद्य विभाग की उज्जवला योजना के तहत 300 हितग्राहियों को एलपीजी कनेक्शन, श्रम विभाग की मुख्यमंत्री सायकल सहायता योजना के तहत 100 हितग्राहियों को सायकल और 100 राजमिस्त्रियों को टूल किट, 15 हितग्राहियों को जाल, 5 हितग्राहियों को आईस बाॅक्स, कृषि विभाग के माध्यम से 15 किसानों को इलेक्ट्रिक पम्प, 256 मिनीकिट, 11 स्प्रिंकलर व दो पेडी ट्रांसप्लांट तथा राजस्व पुस्तक परिपत्र 6-4 के तहत दो हितग्राहियों को 4-4 लाख रुपए का चेक वितरित किया।
इस अवसर पर उमड़े जनसैलाब के उत्साह को देखकर मुख्यमंत्री डाॅ. रमन सिंह ने कहा कि यह विकास यात्रा नहीं बल्कि विजय जुलूस है। मुख्यमंत्री ने कहा कि छत्तीसगढ़ के हर जिले में एक-एक एकलव्य विद्यालय हैं, किन्तु बस्तर में दो एकलव्य विद्यालय हैं। इसी क्षेत्र के करपावंड में एकलव्य विद्यालय है तथा बेसोली में दूसरा एकलव्य विद्यालय 11.68 करोड़ रुपए की लागत से बनकर तैयार है। उन्होंने कहा कि बेसोली नये एजुकेशन हब के रुप में विकसित हो रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि इस क्षेत्र की सबसे बड़ी समस्या फ्लोराईड और आयरनयुक्त पानी की थी, जिसके निदान के लिए लगभग 50 करोड़ रुपए की लागत से कोसारटेडा समूह जल प्रदाय योजना के तहत 29 गांवों में 60000 लोगों तक साफ पीने का पानी पहुंचाने का कार्य किया गया। उन्होंने कोसारटेडा मध्यम सिंचाई परियोजना के लिए पूर्व सांसद श्री बलिराम कश्यप को विशेष तौर पर याद किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोसारटेडा के माध्यम से लगभग 5000 एकड़ से अधिक खेत की सिंचाई संभव हो सकी है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि स्व. बलिराम कश्यप के प्रयासों से ही वनवासियों को वन अधिकार पट्टा देने की पहल हुई और अब तक प्रदेश में सात लाख वनवासियों को वन अधिकार पट्टा दिया जा चुका है। उन्होंने बताया कि प्रदेश शासन द्वारा आबादी पट्टा देने का कार्य भी किया जा रहा है, जिससे वर्षों से भूमि पर काबिज लोगों को उनका मालिकाना हक मिल सके। मुख्यमंत्री ने आदिम जाति कल्याण मंत्री श्री केदार कश्यप और सांसद श्री दिनेश कश्यप के कार्यों की सराहना करते हुए कहा कि वे दोनों भी अपने पिता की तरह क्षेत्र की जनता के कल्याण के लिए निरंतर कार्य कर रहे हैं।
इस अवसर पर स्कूल शिक्षा एवं आदिम जाति कल्याण मंत्री श्री केदार कश्यप ने क्षेत्र में स्थापित एकलव्य विद्यालय, प्रयास विद्यालय, भानपुरी में महाविद्यालय की स्थापना के लिए मुख्यमंत्री डाॅ. रमन सिंह के प्रति आभार प्रकट किया। उन्होंने इस अवसर पर कई दिनों से बंद पड़े कोसारटेडा मध्यम सिंचाई परियोजना को पुनः प्रारंभ करवाकर कार्य पूर्ण कराने के लिए भी मुख्यमंत्री के प्रति आभार व्यक्त किया और कहा कि इससे क्षेत्र के किसानों को बारहमासी कृषि की सुविधा मिली है। इस अवसर पर सांसद श्री दिनेश कश्यप ने भी जनसभा को संबोधित किया।
इस अवसर पर पादप बोर्ड के अध्यक्ष श्री रामप्रताप सिंह, वन विकास निगम के अध्यक्ष श्री श्रीनिवास मद्दी, युवा आयोग के अध्यक्ष श्री कमलचंद भंजदेव, जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती जबिता मंडावी, पूर्व विधायक डाॅ. सुभाउ कश्यप, श्री बैदूराम कश्यप, श्री लच्छूराम कश्यप, कलेक्टर श्री धनंजय देवांगन, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री प्रभात मलिक सहित जनप्रतिननिधिगण, अधिकारी-कर्मचारीगण और बड़ी संख्या में ग्रामीण उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *