political

मधुपुर उपचुनावः नामांकन भरने का आज आखिरी दिन, BJP प्रत्याशी दाखिल करेंगे पर्चा, JMM से है मुकाबला

देवघर. झारखंड में मधुपुर विधानसभा सीट पर 17 अप्रैल को होने वाले उपचुनाव को लेकर सियासत गर्म है. इस सीट पर सत्तारूढ़ झारखंड मुक्ति मोर्चा के उम्मीदवार का मुकाबला प्रमुख विपक्षी दल भाजपा से होने वाला है. विधायक हाजी हुसैन अंसारी के निधन से खाली हुई सीट पर उपचुनाव को लेकर दोनों दलों के बीच रस्साकशी तेज है. बीजेपी ने आजसू नेता गंगा नारायण सिंह को हाल ही में अपनी पार्टी में शामिल कराने के बाद चुनावी रण में उतारा है. वहीं, झामुमो प्रत्याशी हफीजुल हसन को सहानुभूति वोट मिलने की उम्मीद है.

गौरतलब है कि मधुपुर से भाजपा प्रत्याशी गंगा नारायण सिंह पिछले कुछ दिनों तक सुदेश महतो की पार्टी आजसू से जुड़े हुए थे. वे आजसू के महत्वपूर्ण नेताओं में से एक माने जाते थे. सियासी जानकारों का कहना है कि पिछले विधानसभा चुनाव में मधुपुर सीट पर गंगा नारायण की वजह से ही बीजेपी के उम्मीदवार और पूर्व मंत्री राजू पलिवार को हार का सामना करना पड़ा था. क्षेत्र पर गंगा नारायण सिंह की पकड़ को देखते हुए ही संभवतः बीजेपी ने उन्हें पार्टी में शामिल कर उपचुनाव के मैदान में उतारा है. हालांकि इस वजह से पार्टी में अंदरूनी खींचातानी भी देखने को मिली थी.

देवघर के मधुपुर विधानसभा उपचुनाव के लिए नामांकन दाखिल करने का आज अंतिम दिन है. 17 अप्रैल को यहां चुनाव होना है. नामांकन भरने के अंतिम दिन मधुपुर अनुंडल कार्यालय में आज कई प्रत्याशियों के पर्चा भरने की उम्मीद है. बीजेपी प्रत्याशी गंगा नारायण सिंह भी आज ही अपना नामांकन दाखिल करेंगे. इससे पहले वे अपने आवास से पथरौल काली मंदिर जाएंगे, जहां दर्शन करने के बाद एसडीओ कार्यालय पहुंचेंगे. नामांकन के बाद भाजपा प्रत्याशी के पक्ष में एक जनसभा भी होनी है. मधुपुर के शेखपुर स्थित रामलीला मैदान में यह सभा होगी.

बताया जा रहा है कि गंगा नारायण सिंह के समर्थन में होने वाली इस जनसभा को बीजेपी के वरिष्ठ नेता और पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी, दीपक प्रकाश के अलावा प्रदेश स्तर के की नेता, सांसद और विधायक भी संबोधित करेंगे. मधुपुर में झामुमो के उम्मीदवार दिवंगत हाजी हुसैन अंसारी के पुत्र हफीजुल हसन से कांटे की टक्कर को देखते हुए, बीजेपी इस सीट को जीतने के लिए हरसंभव प्रयास कर रही है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.