political

कोरोना से ज्यादा वोटों की फिक्र, चुनावी कार्यक्रमों में बिजी योगी और ममता पीएम की मीटिंग से दूर, छत्तीसगढ़ के सीएम भी शामिल नहीं

नई दिल्ली कोलकाता |  देश के कई राज्यों में एक बार फिर से कोरोना के बढ़ते मामलों को लेकर पीएम नरेंद्र मोदी ने सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के मुख्यमंत्रियों की बैठक बुलाई है। हालांकि इस मीटिंग से पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने दूरी बना ली है। इस मीटिंग में ममता बनर्जी शामिल नहीं हुई हैं। टीएमसी सूत्रों ने कहा कि पहले से तय चुनावी कार्यक्रमों के चलते ममता बनर्जी ने पीएम संग मुख्यमंत्रियों की बैठक से दूर रहने का फैसला लिया है। उनके अलावा यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ भी असम में चुनाव प्रचार में बिजी हैं और मीटिंग से दूर रहे। पीएम नरेंद्र मोदी ने देश में कोरोना वैक्सीनेशन अभियान की प्रगति के बारे में जानने और कोरोना के बढ़ते मामलों पर चर्चा के लिए यह मीटिंग बुलाई है।

ममता बनर्जी अकसर पीएम नरेंद्र मोदी और बीजेपी पर खुलकर हमला बोलती रही हैं। राज्य में 8 चरणों में चुनाव होना है और प्रचार का अभियान तेज है। इस बीच ममता बनर्जी भी ताबड़तोड़ रैलियां कर रही हैं। 10 मार्च को नंदीग्राम सीट से नामांकन दाखिल करने के बाद शाम को वह चोटिल हो गई थीं। इसके बाद उन्हें कोलकाता के एसएसकेएम अस्पताल ले जाय गया था। यहां उनके पैर में प्लास्टर चढ़ाया गया है। लेकिन इसके बाद भी ममता बनर्जी का चुनावी कार्यक्रम थमा नहीं है। वह 15 तारीख से ही लगातार रैलियां कर रही हैं। यही नहीं बुधवार को वह टीएमसी का मेनिफेस्टो भी जारी कर सकती हैं।
ममता बनर्जी और योगी आदित्यनाथ के अलावा कांग्रेस शासित राज्य छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल भी मीटिंग में हिस्सा नहीं ले रहे हैं। हालांकि बैठक से उनके दूर रहने की वजह सामने नहीं आई है। छत्तीसगढ़ देश के उन राज्यों में से एक है, जहां कोरोना के मामलों में बीते कुछ वक्त में तेजी देखने को मिली है। ममता बनर्जी के स्थान पर राज्य के चीफ सेक्रेटरी बैठक में हिस्सा ले रहे हैं। पश्चिम बंगाल के चुनाव में भी बीजेपी की ओर से मीटिंग से ममता के दूर रहने को मुद्दा बनाया जा सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.