National/International political

प्रियंका का मोदी पर तंज- जब नाश मनुज पर छाता है, पहले विवेक मर जाता है

प्रियंका ने कहा- देश अहंकारी को कभी माफ नहीं करता, दुर्योधन में भी ऐसा ही अहंकार था
राजीव गांधी पर मोदी के बयान के बाद राहुल गांधी और प्रियंका गांधी का पलटवार
गुड़गांव. कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा मंगलवार को हरियाणा में चुनाव प्रचार के लिए पहुंचीं। एक जनसभा में उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर तंज कसा। कांग्रेस महासचिव ने कहा- देश ने अहंकार को कभी माफ नहीं किया। ऐसा अहंकार दुर्योधन में भी था। वे बोलीं, “जब भगवान कृष्ण उन्हें समझाने के लिए गए थे, तब दुर्योधन ने उन्हें बंधक बनाने की कोशिश की।’ प्रियंका ने रामधारी सिंह दिनकर की कविता भी पढ़ी- जब नाश मनुज पर छाता है, पहले विवेक मर जाता है।
अंबाला में चुनावी सभा के दौरान उन्होंने कहा- चुनाव के प्रचार में भाजपा के नेता कभई ये नहीं कहते कि उन्होंने जो वादे किए थे, वे पूरे किए या नहीं। कभी शहीदों के नाम पर वोट मांगते हैं तो कभी मेरे परिवार के शहीद सदस्यों का अपमान करते हैं।

चुनावी रैली में मोदी ने बोफोर्स घोटाले और राजीव का जिक्र किया था
मोदी ने 4 अप्रैल को उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ में चुनावी रैली की थी। यहां उन्होंने बोफोर्स घोटाले की तरफ इशारा करते हुए पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी का नाम लिए बिना उन पर बयान दिया था। उन्होंने कहा था, “आपके (राहुल गांधी) पिताजी को आपके राज दरबारियों ने गाजे-बाजे के साथ मिस्टर क्लीन बना दिया था। देखते ही देखते भ्रष्टाचारी नम्बर वन के रूप में उनका जीवनकाल समाप्त हो गया। नामदार यह अहंकार आपको खा जाएगा।’

6 अप्रैल को बंगाल के तामलुक और झारखंड के चाईबासा में भी मोदी ने चुनौती दी थी कि कांग्रेस, नामदार का पूरा परिवार उन पूर्व प्रधानमंत्री के मान-सम्मान के मुद्दे पर आगे का चुनाव लड़ें, जिन पर बोफोर्स घोटाले के आरोप हैं।

राहुल-प्रियंका ने दिया मोदी को जवाब
राहुल ने मोदी के बयान पर जवाब दिया था- लड़ाई खत्म हो गई। आपकी नियति आपका इंतजार कर रही है। अपने बारे में जो आपके विचार हैं, वह मेरे पिता पर थोपने से भी आप बच नहीं पाएंगे।
प्रियंका ने भी मोदी के इस बयान पर पलटवार किया था। उन्होंने ट्वीट किया- शहीदों के नाम पर वोट मांगकर उनकी शहादत को अपमानित करने वाले प्रधानमंत्री ने कल अपनी बेलगाम सनक में एक नेक और पाक इंसान की शहादत का निरादर किया। जवाब अमेठी की जनता देगी जिनके लिए राजीव गांधी ने अपनी जान दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.