National/International

सुरक्षा / युद्धक क्षमता बढ़ाना चाहती है नौसेना, 10 कामोव हेलिकॉप्टर खरीदने का प्रस्ताव सरकार को भेजा

3500 करोड़ रुपए में खरीदे जाएंगे रूस के कामोव-31 हेलिकॉप्टर, अभी नौसेना के पास 12 कामोव
भारतीय तटरक्षक दल ने भी 6 निगरानी एयरक्राफ्ट खरीदने का प्रस्ताव सरकार को भेजा
नई दिल्ली. हवाई खतरे के मद्देनजर नौसेना अपनी ताकत में इजाफा करना चाहती है। नेवी ने भारत सरकार के पास रूस के 10 कामोव-31 हेलिकॉप्टर खरीदने के लिए प्रस्ताव भेजा है। सरकारी अफसर के मुताबिक, रक्षा मंत्रालय को 10 कामोव हेलिकॉप्टर खरीदने का प्रस्ताव मिला है। इनकी कीमत करीब 3500 करोड़ रुपए है। ये हेलिकॉप्टर एयरक्राफ्ट कैरियर ऑपरेशंस और भविष्य के ग्रेगरीविच क्लास जंगी जहाज पर तैनात किए जा सकेंगे।
निगरानी के लिए 6 एयरक्राफ्ट खरीदने का भी प्रस्ताव
रक्षा मंत्रालय की एक उच्चस्तरीय बैठक होनी है जिसमें भारतीय तटरक्षक दल (इंडियन कोस्टगार्ड) के प्रस्ताव पर भी चर्चा होनी है। तटरक्षक दल की तरफ से भी सामुद्रिक क्षेत्र में निगरानी के लिए 6 एयरक्राफ्ट (सी-295) खरीदने का प्रस्ताव भेजा गया है। नए एयरक्राफ्ट को वायुसेना के एवरो ट्रांसपोर्ट प्लेन की जगह लाया जाएगा।
नेवी के पास वर्तमान में 12 कामोव-31 हेलिकॉप्टर हैं। इन्हें एयरक्राफ्ट कैरियर पर तैनाती के साथ खुले समुद्र में आमने-सामने की लड़ाई की लड़ाई में इस्तेमाल किया जा सकता है।
एंटी-सबमरीन ऑपरेशन के लिए नौसेना के पास कामोव-28 हेलिकॉप्टर का बेड़ा है। इससे पहले नौसेना के लिए 1980 के दशक में हेलिकॉप्टर लिए गए थे। नेवी अब भविष्य के ऑपरेशंस को देखते हुए अपने बेड़े को अपग्रेड करना चाहती है।
मोदी सरकार नहीं चाहती कि चुनाव का असर सेना के आधुनिकीकरण की कोशिशों पर पड़े। लिहाजा डिफेंस एक्वीजिशन काउंसिल और सुरक्षा पर कैबिनेट समिति (सीसीएस) नियमित तौर पर सेनाओं के लिए जरूरी उपकरणों की खरीदी पर चर्चा करती हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *