National/International

कांग्रेस का आरोप- राहुल को लेजर लाइट से टारगेट किया; एसपीजी ने कहा- यह मोबाइल की लाइट थी

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने बुधवार को अमेठी लोकसभा सीट के लिए पर्चा भरा
राहुल की सुरक्षा में चूक को लेकर कांग्रेस ने गृह मंत्री राजनाथ सिंह को पत्र लिखकर जांच की मांग की
अमेठी. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने बुधवार को अमेठी से नामांकन भरा। नामांकन के बाद राहुल प्रेस कॉन्फ्रेंस कर रहे थे। इस दौरान उनके माथे पर कई बार हरे रंग की लाइट दिखाई पड़ी। कांग्रेस ने इसे सुरक्षा में बड़ी खामी करार दिया है। पार्टी ने आरोप लगाया कि कांग्रेस अध्यक्ष को टारगेट किया जा रहा था। स्पेशल प्रोटेक्शन ग्रुप (एसपीजी) के डायरेक्टर ने जांच के बाद गृह मंत्रालय को बताया कि यह मोबाइल की हरी लाइट थी, जो कांग्रेस समर्थकों के द्वारा ही फोटो लेने के दौरान इस्तेमाल की गई थी।
वरिष्ठ कांग्रेसी नेताओं ने गृहमंत्री को लिखा, ”हरे रंग की लेजर लाइट से राहुल गांधी के सिर को निशाना बनाते हुए सात बार टारगेट किया गया। यह लाइट स्नाइपर गन से निकलने वाली लेजर की तरह ही प्रतीत हो रही थी। यह अलार्म है, जो हमें संभलने की चेतावनी दे रहा है।”

पत्र में राजीव और इंदिरा गांधी का भी जिक्र
कांग्रेस ने पत्र में पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी और इंदिरा गांधी (राहुल गांधी के पिता और दादी) की हत्या का जिक्र किया है। वायनाड सीट के बाद राहुल ने बुधवार को अपनी पारंपरिक सीट अमेठी से भी पर्चा भर दिया है। इससे पहले राहुल ने बहन प्रियंका गांधी वाड्रा, बहनोई रॉबर्ट वाड्रा और उनके दोनों बच्चों के साथ रोड शो किया।
राहुल की सुरक्षा को लेकर यूपी प्रशासन की बड़ी चूक
कांग्रेस ने इस घटना को उत्तर प्रदेश प्रशासन की ओर से एक बड़ी चूक बताया है। पार्टी ने केंद्र सरकार से मामले में शीघ्र कार्रवाई की मांग की है। गृह मंत्रालय को लिखे पत्र पर कांग्रेसी नेता अहमद पटेल, जयराम रमेश और रणदीप सिंह सुरजेवाला ने साइन किए हैं। पत्र में सरकार से कहा गया है कि किसी भी राजनीतिक मतभेद के बावजूद राहुल गांधी की सुरक्षा आपकी सरकार और मंत्रालय की पहली जिम्मेदारी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *