National/International

ग्वाटेमाला में ज्वालामुखी के फटने से कम से कम 38 लोगों की मौत

ग्वाटेमाला में फ़्यूएजो ज्वालामुखी के फटने से मरने वालों की तादाद 62 को पार गई है। इसमें सैंकड़ों लोग घायल हुए हैं। लापता और मृतकों के लिए खोज एवं बचाव अभियान कम रोशनी और खतरनाक स्थितियों के कारण रद्द कर दिया गया है।

ग्वाटेमाला में फ़्यूएजो ज्वालामुखी के फटने से मरने वालों की तादाद 62 को पार गई है। इसमें सैंकड़ों लोग घायल हुए हैं। ग्वाटेमाला से मिलने वाली तस्वीरों में कई किलोमीटर तक हवा में राख के बादल देखे जा सकते हैं। राजधानी ग्वाटेमाला सिटी इस ज्वालामुखी से 40 किलोमीटर दूर है। लापता और मृतकों के लिए खोज एवं बचाव अभियान कम रोशनी और खतरनाक स्थितियों के कारण रद्द कर दिया गया है।

ज्वालामुखी फटने से आसपास के इलाके में आसमान में राख फैल गई। विस्फोट से निकली राख के कारण ग्वाटेमाला सिटी के अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे को बंद करना पड़ा। अधिकारियों के मुताबिक इससे करीब 17 लाख लोग इससे प्रभावित हुए हैं। सरकार का कहना है कि मरने वालों की संख्या बढ़ भी सकती है क्योंकि कई लोग लापता हैं।

ग्वाटेमाला तट पर कल 5.2 की तीव्रगति से भूकंप के झटके महसूस किए गए। अमेरिकी भू-गर्भ सर्वे के मुताबिक ग्वाटेमाला में ज्वालामुखी फटने की घटना के एक दिन बाद यह भूकंप आया। भूकंप के झटके पेसेफिक महासागर में  6.2 मील की गहराई में महसूस किए गए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.