National/International

भारत और सिंगापुर के बीच आठ समझौता पत्रों पर हस्ताक्षर

भारत और सिंगापुर के बीच आज आठ समझौता पत्रों पर हस्ताक्षर किए गए। इनमें व्यापक आर्थिक सहयोग, वित्तीय तकनीकी सहायता, कार्मिक और प्रशासन, साइबर सुरक्षा क्षेत्र और अवैध तस्करी के क्षेत्र में समझौते शामिल हैं। इमझौता पत्रों के आदान प्रदान के अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और सिंगापुर के प्रधानमंत्री ली सियेन लूंग भी मौजूद थे।

इस मौके पर पीएम मोदी ने कहा कि भारत के लिए सिंगापुर FDI का बड़ा स्रोत है। सिंगापुर की कंपनियों का भारत में निवेश बढ़ रहा है। भारत और सिंगापुर के बीच एयर ट्रैफिक तेजी से बढ़ रहा है। उन्होने भारत में विदेशी निवेश के क्षेत्र में सिंगापुर के निवेश की सराहना की साथ ही बड़ा साझेदार बताया।  प्रधानमंत्री ने कहा कि कौशल विकास , योजना और शहरी विकास के क्षेत्रों में दोनों देश सहयोग बढ़ाने पर काम कर रहे हैं। साथ ही डिजिटल इंडिया के तहत हम भारत में एक डेटाबेस सेंटर बनाएंगे। प्रधानमंत्री मोदी ने सिंगापुर के साथ भारत के बढ़ते संबंधों और सहयोग को रणनीतिक और सामरिक क्षेत्र के लिए अहम बताया। उन्होने कौशल विकास के क्षेत्र में भारत के साथ सहयोग को लेकर आगे बढ़ने की प्रतिबद्धता दोहराई।

इससे पहले प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का इस्ताना पैलेस में औपचारिक स्वागत किया गया। सिंगापुर के प्रधानमंत्री ली सियेन लूंग भी पीएम मोदी के साथ थे। प्रधानमंत्री ने गार्ड ऑफ ऑनर का निरीक्षण किया। मोदी तीन देशों की यात्रा के तीसरे और अंतिम चरण में सिंगापुर में हैं। सिंगापुर भारत की एक्ट-ईस्ट नीति के लिहाज से काफी अहम देश है। पीएम मोदी ने भी कहा है कि जब हमने अपना दरवाज़ा दुनिया के लिए खोला और पूर्व का रुख किया, तो सिंगापुर भारत और आसियान के बीच एक पुल बन गया। सिंगापुर अंतरराष्ट्रीय मंचो पर भारत की आवाज़ के साथ खड़ा रहा है। दोनों देशों के बीच मजबूत आर्थिक और रक्षा संबंध है। प्रधानमंत्री ने आगन्तुक पुस्तिका में भी अपने विचार साझा किए।

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने आज सिंगापुर के प्रधानमंत्री ली सियेन लूंग के साथ आपसी हित से जुड़े मामलों पर उच्‍च स्‍तरीय बातचीत की। दोनों पक्षों के बीच सामरिक, आर्थिक और प्रौद्योगिकी क्षेत्र में व्‍यापक मुद्दों पर बातचीत हुई। द्विपक्षीय वार्ता के दौरान दोनों नेताओँ ने व्‍यापक आर्थिक व्‍यापार समझौते जैसे अहम मुद्दों पर चर्चा की। प्रधानमंत्री आज सिंगापुर में रणनीतिक रूप से अहम शंगरी-ला डायलॉग को आज संबोधित करेंगे। यह पहली बार होगा जब भारतीय प्रधानमंत्री कार्यक्रम को संबोधित करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.