National/International

कर्नाटक विधानसभा की 222 सीटों के लिए मतदान आज

कर्नाटक की 224 विधानसभा की 222 सीटों के लिए सुबह सात बजे से मतदान होगा। वोटर आईडी कार्ड मिलने के मामले में राजराजेश्वरी सीट पर चुनाव स्थगित कर दिया गया है। 4 करोड़ 98 लाख से अधिक मतदाता 2654 उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला करेंगे। मतदान के लिए सभी चुनावी तैयारियां पूरी हो गयी हैं और 3.5 लाख से अधिक कर्मी चुनाव ड्यूटी पर लगाए हैं।

कर्नाटक विधानसभा की 222 सीटों के लिए आज वोट डाले जा रहे हैं। मतदान शाम छह बजे तक होगा। बेंगलुरु के आरआर नगर के एक घर से हजारों की तादाद में सामने आए फर्जी आईकार्ड के मामले को देखतेहुए चुनाव आयोग ने इस सीट पर होने वाले मतदान को 28 मई को कराने का फैसला किया है। राज्य में करीब  4 करोड़ 98
लाख मतदाता आज अपने मताधिकार का इस्तेमाल करेंगे,निष्पक्ष और शांतिपूर्णमतदान कराने के लिए 3.5 लाख से अधिक कर्मी चुनाव ड्यूटी पर लगाए गए हैं,कर्नाटक में करीब दो महीने से जारी चुनाव अभियान के बाद शनिवार सुबह सात बजे से
जनता विधानसभा चुनाव के लिए वोट डालेगी। सुबह सात बजे से शुरु मतदान शाम साढे छह बजे तक चलेगा। राज्य की224 सदस्यीय विधानसभा की 222 सीटों के लिए  मतदान होगा एक सीट पर मतदान बीजेपी प्रत्याशी और वर्तमान विधायक बी एन विजयकुमार के निधन के चलते स्थगित कर दिया गया हैराज्य में कुल करीब  4 करोड़ 98  लाख मतदाता अपने मताधिकार का इस्तेमाल करेंगे ।इन मतदाताओं में 2.52 करोड़ से अधिक पुरुष , करीब 2.44 महिलाएं तथा 4,552 ट्रांसजेंडर हैं चुनाव में कुल2654 उम्मीदवार हैं जिसमें 2435 पुरुष और 219 महिला हैं ।  मतदान  लिए कुल 56 हजार 696 पोलिंग स्टेशन बनाए गए हैं । कुछ सहायक मतदान केंद्र भी होंगे। चुनाव आयोग की ओर से मतदान के लिएपूरी तैयारियां की गयी हैं । 3.5 लाख से अधिक कर्मी चुनाव ड्यूटी पर लगाए गए हैं । तमाम कर्मचारियों को चुनाव के लिए रवाना कर दिया गया है ।

स्वतंत्र एवं निष्पक्ष चुनाव सुनिश्चित करने के लिए पुलिस बंदोबस्त भी पूरे कर लिए गए हैं चुनाव आयोग की ओर से चुनाव को आसान बनाने के लिए तमाम इंतजाम किए गए हैं । जनजातीय क्षेत्रों में कुछ मतदान केंद्र संबंधित स्थान के पारंपरिक रुप में नजर आयेंगे। पहली बार कुछ चुनिंदा मतदान केंद्रोंपर दिव्यांग कर्मचारी ड्यूटी पर होंगे।  ईवीएम के साथ- साथ वीवीपैट मशीन का भी इस्तेमाल होगा । लोग मोबाल एप्प के अनुसार मतदान केंद्रों पर मतदाताओं की कतार की स्थिति के बारे में जान पायेंगे। दिव्यांगों व महिलाओं के लिए विशेषव्यवस्था की गयी है । महिलाओं के लिए खास तौर पर पिंक बूथ बनाए गए हैं ।
राज्य में इस बार त्रिकोणीय मुकाबला देखने को मिल रहा है । बीजेपी और कांग्रेस के साथ ही जेडीएस बीएसपी गठबंधन सियासी समर में मुकाबला कर रहे हैं । राज्य में फिलहाल सिद्धारमैया की अगुवाई वालीकांग्रेस सरकार है । कांग्रेस जहां दोबारा वापसी की उम्मीद कर रही है तो वहीं बीजेपी भी पांच साल बाद फिर से अपनी सरकार बनाने का दावा कर रही है ।
सिद्धरमैया समेत चार वर्तमान एवं पूर्व मुख्यमंत्री चुनाव मैदान में हैं।
सिद्धारमैया जहां बादामी और चामुंडेश्वरी से चुनाव लड रहे हैं तो येद्दियुरप्पा शिकारीपुरा से, कुमारस्वामी चेन्नापटना और रमनगारा से तथा  भाजपा के जगदीश शेट्टार हुबली धारवाड़ से चुनाव मैदान में ताल ठोक रहे हैं। सिद्धारमैया के बेटे यतीद्र वरुणा निर्वाचन क्षेत्र  से चुनाव लड़ रहे हैं ।

महीने भर से जारी प्रचार के दौरान तमाम दलों ने पूरी ताकत झोंकी और जमकर प्रचार किया । इस दौरान एक दूसरे के खिलाफ खूब आरोप प्रत्यारोप भी हुए । राज्य के चुनाव में इस बार अहम मुद्दों की बात करें तो

कानून और व्यवस्था , भ्रष्टाचार, किसानों की बदहाली, सिंचाई की समस्या , बुनियादी सुविधाओं की कमी ,बेरोजगारी ,पीने के पानी की किल्लत ,कई इलाकों में सूखा ,वंशवाद की राजनीति ,क्षेत्रवाद  और धर्मकी राजनीति , सिद्धारमैया सरकार का कामकाज और राज्य सरकार के खिलाफ सत्ता विरोधी लहर अहम मुद्दे रहे । फिलहाल सभी उम्मीदवारों की सांसे थमी हुई हैं और अब देखना है कि शनिवार को जनता क्या फैसला देती है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.