National/International

राष्ट्रमंडल संगठन शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेंगे पीएम

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अब लंदन में हैं जहां वो न केवल ब्रिटेन के साथ आपसी रिश्तों को नये शिखर पर ले जाने के लिए वार्ताएं करेंगे बल्कि राष्ट्रमंडल देशों के प्रमुखों के सम्मेलन में भी हिस्सा लेंगे। PM के इस लंदन दौरे का खास आकर्षण होगा भारतीय समुदाय के लोगों के साथ उनके संवाद का कार्यक्रम ”भारत की बात, सबके साथ” ।

ब्रिटिश प्रधानमंत्री थेरेसा मे के आमंत्रण पर हो रही पीएम की इस यात्रा में दोनों देश तमाम मसलों पर बात करेंगे। दोनों देशों के मजबूत संबंधों को याद करते हुए पीएम ने यात्रा पर रवानगी से पहले उम्मीद जतायी थी कि उनकी इस यात्रा से दोनों देशों के परस्पर सहयोग को नई गति मिलेगी। पीएम ने फेसबुक पर लिखा- भारत और ब्रिटेन आधुनिक सहयोग साझा करते हैं जो मज़बूत ऐतिहासिक संबंधों पर आधारित है।मैं स्वास्थ्य, इनोवेशन, डिजिटलीकरण, इलेक्ट्रिक मोबिलिटी, स्वच्छ ऊर्जा तथा साइबर सुरक्षा के क्षेत्रों में भारत ब्रिटेन साझेदारी बढ़ाने पर बल दूंगा।

पीएम ब्रिटिश प्रधानमंत्री के साथ मुलाकात के अलावा ब्रिटेन की महारानी से भी भेंट करेंगे। लंदन में पीएम की यात्रा के दौरान इस बार भारतीय समुदाय के लोगों के साथ संवाद का एक अनूठा कार्यक्रम आयोजित किया गया है। बुधवार को आयोजित होने वाले इस कार्यक्रम का शीर्षक है ”भारत की बात, सबके साथ”। लंदन में द्विपक्षीय मुलाकातों के अलावा पीएम मोदी 19 और 20 अप्रैल को 53 देशों के राष्ट्रमंडल संगठन शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेंगे ।

इस बार ब्रिटेन बैठक की मेजबानी कर रहा है। ब्रिटेन इस बार माल्टा से राष्ट्रमंडल के चेयर-इन-ऑफिस का पदभार ग्रहण करेगा बताया जा रहा है कि बैठक में 50 देशों के मुखिया हिस्सा ले रहे हैं। शिखर सम्मेलन के दौरान  सदस्य राष्ट्र उसके समक्ष अवसरों और चुनौतियों, लोकतंत्र और शांति तथा समृद्धि को आगे बढ़ाने के बारे में साझा रूख तय करेंगे।  बैठक के एजेंडे में जलवायु परिवर्तन, छोटे द्वीपीय देशों पर मंडराते खतरे प्रमुख है। इसके अलावा शांति  स्थापना और  बेहद गरीब देशों को मदद  भी एजेंडे में हैं । इस दौरान विभिन्न देशों से कई अहम द्विपक्षीय समझौते हो सकते हैं ।

राष्ट्रमंडल सम्मेलन की अहमियत के  बारे में पीएम ने फेसबुक पर लिखा- राष्ट्रमंडल एक बहुआयामी समूह है जो छोटे देशों तथा छोटे द्वीप देशों सहित विकासशील सदस्य देशों को उपयोगी सहायता प्रदान करता है। विकास के मामलों में यह मजबूत अंतर्राष्ट्रीय संस्था है।

लंदन में प्रधानमंत्री के अन्य कार्यक्रमों की बात करें तो – बुधवार को पीएम मोदी विज्ञान और इनोवेशन के 5000 साल पर एक प्रदर्शनी का दौरा करेंगे । इसके अलावा पीएम “लिविंग ब्रिज” कार्यक्रम के तहत जीवन के विभिन्न क्षेत्रों से संबंधित लोगों से मुलाकात करेंगे। बुधवार को ही पीएम रिसर्च लैब का दौरा करेंगे और भारत ब्रिटेन सीईओ फोरम की बैठक में हिस्सा लेंगे । प्रधानमंत्री भारत-ब्रिटेन के बीच विज्ञान और तकनीक के क्षेत्र में सहयोग प्रदर्शित करने वाले एक कार्यक्रम में भी शिरकत करेंगे ।बुधवार को ही भारत की बात, सबके साथ” कार्यक्रम में हिस्सा लेने के बाद वो ब्रिटिश पीएम की ओर से आयोजित डिनर में हिस्सा लेंगे। गुरुवार और शुक्रवार को वो राष्ट्रमंडल शिखर सम्मेलन के साथ ही द्विपक्षीय मुलाकातों में हिस्सा लेंगे । गुरुवार को पीएम  महारानी के साथ रात्रि भोज के लिए बकिंगम पैलेस जाएंगे।

2009 के बाद यह पहली बार होगा जब कोई भारतीय प्रधानमंत्री कॉमनवेल्थ शिखर सम्मेलन का हिस्सा बनेंगे। माल्टा में हुई पिछली बैठक  में पीएम नरेंद्र मोदी शामिल नहीं हो सके थे। कुल मिलाकर पीएम मोदी की ये यात्रा  भारत-ब्रिटेन संबंध को मज़बूत बनाने में अहम योगदान  देगी और दोनोंदेशों में  आपसी सहयोग बढ़ेगा।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *