National/International

संसद में व्यवधान: पीएम, भाजपा सांसदों का आज उपवास

विपक्ष के हंगामे के कारण संसद के बजट सत्र के दूसरे हिस्से में कोई कामकाज नहीं होने के विरोध में आज प्रधानमंत्री सहित देश भर में भाजपा सांसद उपवास रखेंगे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उपवास में रहकर अपने दैनिक कार्य करेंगे। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह कर्नाटक के हुबली में सांकेतिक धरने पर बैठेंगे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा के सभी सांसद आज एक दिन का उपवास रखेंगे. संसद में कांग्रेस के विरोध के चलते काम न हो पाने के खिलाफ भाजपा का ये प्रदर्शन देशभर में होगा. हांलाकि पीएम मोदी उपवास के साथ अपना सामान्य काम काज करते रहेंगे। पीएम ने कल बीजेपी सांसदों , विधायकों और जनप्रतिनिधियों से बात की और उपवास की जरुरत बतायी। पार्टी अध्यक्ष अमित शाह भी कर्नाटक के हुबली में सांकेतिक धरने पर बैठेंगे।

विपक्ष के रवैये के कारण इस बार बजट सत्र का दूसरा चरण पूरी तरह हंगामे की भेंट चढ गया । इसके विरोध में गुरुवार बीजेपी के सांसद पूरे देश में उपवास रखेंगे । खुद पीएम मोदी भी इस उपवास कार्यक्रम में शामिल होंगे। पीएम नरेंद्र मोदी 12 अप्रैल को अपने दैनिक कामकाज के साथ साथ उपवास पर रहेंगे । पीएम ने बुधवार को बीजेपी सांसदों , विधायकों और जनप्रतिनिधियों से बात की और उपवास की जरुरत बतायी। पीएम ने कहा – संसद को बंदी बनाकर जिन्होंने लोकतंत्र का गला घोंटने का अपराध किया , राजनैतिक अहंकार एवं सत्ता की भूख से देश को आगे नहीं बढ़ने दिया और संसद को नहीं चलने दिया , हम उन मुठ्ठी भर लोगों की मानसिकता को देश के लोगों के सामने उजागर करेंगे।

पार्टी अध्यक्ष अमित शाह कर्नाटक के हुबली में सांकेतिक धरने पर बैठेंगे।पार्टी का कहना है कि विपक्ष खासकर कांग्रेस को जनता के सामने बेनकाब करने के लिए ये रास्ता अपनाया जा रहा है । पीएम मोदी खुद गांधी के सत्य और अहिंसा के अनुयायी हैं इसलिए उपवास का रास्ता अपनाया जा रहा है।

दरअसल कांग्रेस के विरोध के चलते संसद का बजट सत्र बिल्कुल नहीं चल सका था। बजट सत्र के दूसरे हिस्से में लोकसभा की उत्पादकता घटकर 4 प्रतिशत रही जबकि राज्यसभा की उत्पादकता 8 प्रतिशत रही। हंगामे की वजह से लोकसभा में 127 घंटे 45 मिनट बरबाद हुए जबकि राज्यसभा में बहुमूल्य 120 घंटे हंगामे की भेंट चढ़े। बीजेपी का कहना है कि कांग्रेस इस हंगामे के लिए जिम्मेदार है और पार्टी जनता के सामने उसका चेहरा सामने लाएगी। इस बीच पार्टी ने 14 अप्रैल से 5 मई तक चलने वाले ग्राम स्वराज अभियान के विस्तृत कार्यक्रम का एलान किया है।

इसके तहत पीएम मोदी छत्तीसगढ के बीजापुर से इस अभियान में जुड़ेगे ।18 अप्रैल को भारत स्वच्छ पर्व मनाया जाएगा। 20 अप्रैल को उज्जवला दिवस का आयोजन होगा जिसमें देश के महत्वपूर्ण गांवों में एलपीजी पंचायतों के जरिए नए गैस कनेक्शन दिए जाएंगे। 24 अप्रैल को देश भर में पंचायती राज दिवस मनाया जाएगा। पीएम इस दिन मध्य प्रदेश के महाकौशल के जबलपुर में रहेंगे । 28 अप्रैल को ग्राम शक्ति अभियान का आयोजन होगा जिसमें सौभाग्य योजना, एलई़डी बल्ब वितरण जैसी योजना के लाभार्थियों से संवाद होगा। 30 अप्रैल को आयुष्मान भारत दिवस मनाया जाएगा । 2 मई को किसान कल्याण कार्यशाला का आयोजन होगा जिसमें किसानों के सशक्तीकरण और उनकी आय दोगुनी करने संबंधी कार्यशालाएं होगी। 5 मई को श्रमिक समाज के लिए कौशल विकास मेलों का आयोजन होगा ।

पीएम ने इस अभियान के संदर्भ में पार्टी के नेताओं और कार्यकर्ताओं से ऑडियो ब्रिज के माध्यम से संवाद किया और कहा कि चुनावी आचार संहिता की वजह से दो राज्यों को छोडकर देश भर में ये अभियान चलेगा। पीएम ने कहा – देश भर में गांव, ग्रामीण किसान और गरीब के सशक्तीकरण के लिए भाजपा के जनप्रतिनिधियों द्वारा ये अभियान चलाकर हम बाबा साहेब अंबेडकर , महात्मा गांधी और ज्योतिबा फुले जैसे कई समाज सुधारकों के सपनों को साकार करने का प्रयास करेंगे। प्रधानमंत्री ने कहा कि सभी जनप्रतिनिधियों को देश और समाज को जोडने वाले इस अभियान को सफल बनाने के लिए गांव गांव जाकर सरकारी योजनाओं का लाभ गांव गरीब और किसान को मिले ये सुनिश्चित करना है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.