National/International

नगालैंड, मेघालय में भारी मतदान

पूर्वोत्तर के दो राज्यों मेघालय और नगालैंड में विधानसभा चुनाव के लिए मंगलवार को मतदान शांतिपूर्ण संपन्न हो गया। दोनों राज्यों के मतदाताओं में मतदान को लेकर काफी उत्साह देखा गया। मतदान केन्द्रों पर सुबह से ही लोगों की भारी भीड़ रही। मेघालय में जहां 67 फीसदी मतदान रिकार्ड किया गया, वहीं नगालैंड में 75 फीसदी लोगों ने मतदान किया।

करीब महीने भर से ज्यादा समय से जारी पूर्वोत्तर का सियासी घमासान अब अपने अंतिम मुकाम की ओर पहुंच गया है । त्रिपुरा का मतदान तो पहले ही खत्म हो गया था मंगलवार को मेघालय और नगालैंड में वोटिंग के साथ ही मतदान की प्रक्रिया संपन्न हो गयी । चुनाव आयोग की तरफ से मतदान के लिए भारी सुरक्षा इंतजाम किए गए थे और इन्हीं चाक-चौबंद सुरक्षा व्यवस्था के बीच जमकर मतदान हुआ । सुबह 7 बजे शुरु हुआ मतदान शाम चार बजे तक जारी रहा ।

सबसे पहले बात मेघालय की जहां 59 सीटों के लिए मतदान हुआ । जिन विधानसभा सीटों पर वोट पडे वहां 18 लाख 42 हजार से ज्यादा मतदाताओं ने कुल 370 उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला ईवीएम में बंद किया । राज्य में 67 फीसदी मतदान हुआ जो पिछले विधानसभा चुनाव के मुकाबले-करीब 22 फीसदी कम है । तमाम इलाकों में लोगों में मतदान को लेकर जोरदार उत्साह देखा गया। सुबह से ही मतदान केंद्रों पर लाइन लगी रही। मतदान केंद्रों पर महिलाओं ने भी लंबी लंबी कतारों में लगकर मताधिकार किया ।

बात नगालैंड की करें तो राज्य में 59 सीटों के लिए मतदान हुआ । जिन विधानसभा सीटों पर वोट पडे वहां 11 लाख 91 हजार से ज्यादा मतदाताओं ने कुल 195 उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला ईवीएम में बंद किया । राज्य में 75 फीसदी मतदान हुआ जो पिछले विधानसभा चुनाव के मुकाबले-करीब 15 फीसदी कम है। राज्य में भारी मतदान में हर वर्ग की हिस्सेदारी रही। इस बार खास बात ये रही कि बड़ी संख्या में युवा वोटर भी मतदान के लिए पहुंचे । तमाम ऐसे भी वोटर थे जो पहली बार मतदान केन्द्रों तक पहुंचे

मतदान के दौर कुछ खास तस्वीरें दिखीं जो लोकतंत्र के इस महापर्व पर लोगों के लिए प्रेरणादायी थी । तमाम जगहों पर दिव्यांग जनों ने या तो व्हील चेयर या फिर किसी की सहायता से पोलिंग बूथों पर जाकर मतदान किया । बुजुर्ग मतदाताओं के उत्साह में भी कहीं से कमी नहीं थी । लोगों ने उत्साह से मतदान किया तो इसके पीछे चुनाव आयोग की भी बडी भूमिका रही । मतदान में लोगों की जोरदार भागीदारी हमारे मजबूत होते लोकतंत्र का प्रतीक है । अब सबको इंतजार है 3 मार्च का जब इस मतदान का नतीजा सबके सामने आएगा ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *