National/International

जनता के पैसों की लूट बर्दाश्त नहीं की जाएगी: पीएम

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को ग्लोबल बिजनेस समिट को संबोधित करते हुए वित्तीय घोटाले करके कानून से बचने की कोशिश करने वालों को सख़्त संदेश दे दिया है. उन्होंने कहा कि वो किसी भी सूरत में नहीं बचेंगे और सरकार उनके ख़िलाफ़ सख़्त कार्रवाई करेगी.

प्रधानमंत्री ने अपने संदेश में ये भी बता दिया कि उनकी सरकार जनता के पैसे का दुरुपयोग बर्दाश्त नहीं करेगी. पीएम ने वित्तीय संस्थानों में नियम और नीयत बनाए रखने पर जोर दिया और कहा कि वो लोग पूरी निष्ठा से अपना काम करें, जिन्हें निगरानी की जिम्मेदारी दी गई है.

सम्मेलन में पीएम ने अपनी सरकार की उपलब्धियों का खाका खींचा और साफ कहा कि गरीब का कल्याण उनकी सरकार की प्राथमिकता है. पीएम ने किसानों के लिए सरकार की नीतियों का जिक्र किया और कहा कि किसानों की उनकी लागत का डेढ़ गुना दिलाएगी.

प्रधानमंत्री ने स्वास्थ्य क्षेत्र में सरकार के कदमों के बारे में जानकारी दी और कहा कि वो स्वास्थ्य की देखभाल के साथ ही स्वास्थ्य बीमा का भी ध्यान रख रही है. पीएम ने कहा कि गरीबों के कल्याण को ध्यान में रखकर ही बजट में आयुष्मान भारत का एलान किया गया है.

प्रधानमंत्री ने अपनी सरकार के चार साल के दौरान किए सुधारों का उल्लेख करते हुए कहा कि चार साल पहले दुनिया हम पर हंसती थी लेकिन आज वही दुनिया भारत के साथ कंधे से कंधा मिलाकर चलना चाहती है. उन्होंने कहा कि भारत अब फ्रेजाइल फाइव से निकल कर फाइव ट्रिलियन इकोनॉमी की ओर बढ़ रहा है.

पीएम मोदी ने कहा कि देश में पिछली सरकार के मुकाबले अब तेजी से काम हो रहा है. न केवल तेजी से सड़कें बन रही हैं, बल्कि रेलवे का विस्तार भी पहले के मुकाबले तेजी से हो रहा है. पीएम ने कहा कि डीबीटी के माध्यम से लीकेज रोकी जा रही है. तीन सालों में गरीबों के लिए 1 करोड़ घरों का निर्माण किया गया है. सरकार न केवल एमएसएमई को मजबूत बनाने के लिए काम कर रही हैं बल्कि लघु उद्योगों को मजबूत करने के लिए भी काम हो रहा है. पीएम ने कहा कि देश में बदलाव आ रहा है और न्यू इंडिया की नींव रखी जा रही है.

प्रधानमंत्री ने कहा कि विश्व अर्थव्यवस्था में पिछले चार सालों में जो इजाफा हुआ है. उसका 21 फीसदी भारत की अर्थव्यस्था में हुए विकास के कारण है.

पीएम ने कहा कि महंगाई नियंत्रण में है वित्तीय घाटा कम हुआ है और इसकी वजह से रुपये का आउटलुक भी बेहतर बना हुआ है. ब्याज दर में एक प्रतिशत से ज्यादा की कमी का लाभ ग्राहकों, हाउसिंग सेक्टर और अन्य उद्योगों को हो रहा है. पीएम ने 4-एस का मंत्र दिया और कहा कि जब स्पीड, स्केल, सेंसिटिविटी के साथ काम होता है तो सक्सेस भी मिलती है.

पीएम ने लोकसभा और विधानसभा के चुनाव साथ कराए जाने की फिर से वकालत की और कहा कि ये पूरे देश के हित में है. कुल मिलाकर पीएम ने देश को बताया कि सरकार गरीबों के कल्याण के लिए पूरी तेजी से काम कर रही है और देश के साथ खिलवाड़ करने वाले को बख्शा नहीं जाएगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published.