National/International

पीएनबी घोटाला: 3 और बैंक अधिकारी गिरफ़्तार

केंद्रीय जांच ब्यूरो ने नीरव मोदी घोटाले से जुड़े पंजाब नेशनल बैंक की मुंबई शाखा के तीन और अधिकारियों को किया गिरफ्तार। नीरव मोदी और मेहुल चौकसी की अवैध संपत्तियों को पता लगाने के लिए देश भर में छापेमारी लगातार जारी।

पीएनबी घोटाले में जांच एजेंसियों की कार्रवाई लगातार जारी है। केंद्रीय जांच ब्यूरो ने नीरव मोदी घोटाले से जुड़े पंजाब नेशनल बैंक की मुंबई शाखा के तीन और अधिकारियों को गिरफ्तार किया है। इसके साथ ही नीरव मोदी और मेहुल चौकसी की अवैध संपत्तियों को पता लगाने के लिए देश भर में छापेमारी लगातार जारी है।

मुंबई में दस जगहों, बिहार में दो, अहमदाबाद में छह, बेंगुलरू में छह, लखनऊ में दो, जालंधर में दो, चेन्नई में चार, हैदराबाद में दो जगहों पर छापेमारी जारी है। मुंबई में नीरव मोदी के वर्ली स्थित बंगले और कोठी समुद्र महल में प्रवर्तन निदेशालय की तफ्तीश जारी है। इसके अलावा बिहार में मुजफ्फरपुर और किशनगंज जिले में भी छापेमारी जारी है। साथ ही राजधानी दिल्ली में एक जगह पर छापेमारी हो रही है।

पंजाब नेशनल बैंक में हुई हज़ारों करोड़ रुपये की कथित धोखाधड़ी के सिलसिले में बड़ी कार्रवाई करते हुए केंद्रीय जांच ब्‍यूरो ने आज पीएनबी की मुंबई में ब्रैडी रोड शाखा को सील कर दिया। सीबीआई ने बैंक के बाहर नोटिस का पर्चा चिपका दिया है, जिस पर लिखा है कि इस शाखा को नीरव मोदी एलओयू मामले के कारण सील किया जाता है। इसके बाद इस ब्रांच में कोई भी काम नहीं होगा। ब्रांच में पीएनबी के कर्मचारियों के प्रवेश पर भी रोक लगा दी गई है। इससे पहले सीबीआई ने रविवार को पीएनबी के 11 अफसरों, मुख्य आरोपी नीरव मोदी की कंपनी फायरस्टार इंटरनेशनल कंपनी के मुख्य वित्तीय अधिकारी विपुल अंबानी के अलावा गोकुलनाथ शेट्टी समेत तीन आरोपियों से गहन पूछताछ की। घोटाले को लेकर देश भर में प्रवर्तन निदेशालय की छापेमारी जारी है।

पंजाब नेशनल बैंक घोटाले की जांच के संबंध में बैंक के अधिकारी आज नई दिल्ली में केंद्रीय सतर्कता आयोग के कार्यालय पहुंचे। आयोग ने बैंक के अधिकारियों को आज ग्यारह बजे पेश होने का समन जारी किया था। इस समन के जरिए आयोग ने बैंक के प्रबंध निदेशक और अन्य शीर्ष अधिकारियों को पेश होने का निर्देश दिया था। इसके अलावा केंद्रीय सतर्कता आयोग ने वित्त मंत्रालय के अफसरों को आज ही पेश होने को भी कहा था।

इस बीच, सरकार ने पंजाब नेशनल बैंक घोटाले में निगरानी संबंधी चूक के बारे में रिजर्व बैंक को पत्र लिखा है। वित्त मंत्रालय में उच्च स्तरीय सूत्रों के अनुसार सरकार ने रिजर्व बैंक से कहा है कि वह बैंकिंग व्यवस्था की कार्यशैली पर नजर रखे, ताकि धोखाधड़ी का पता चल सके। इस बीच, इस घोटाले को देखते हुए आज नई दिल्ली में केंद्रीय सतर्कता आयोग, रिजर्व बैंक और पंजाब नेशनल बैंक के अधिकारियों की बैठक हुई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *