National/International

राष्ट्रपति ने किया शौर्य सम्मानों का एलान

भारतीय वायु सेना के गरुड़ कमांडो ज्योति प्रकाश निराला को मरणोपरांत अशोक चक्र से सम्मानित किया जाएगा. यह शांति के समय दिया जानेवाला सबसे बड़ा सैन्य सम्मान होता है. निराला ने जम्मू-कश्मीर के हाजिन इलाके में पिछले साल नवंबर में आतंकियों के साथ मुठभेड़ में अकेले ही 3 आतंकियों को मार गिराया था. उस एनकाउंटर में छह आतंकियों को सेना के जवानों ने मार गिराया था. उनमें से एक लश्कर-ए-तैयबा चीफ जकी-उर-रहमान लखवी का भतीजा भी था.

मेजर विजयंत बिष्ट को कीर्ति चक्र प्रदान करने की घोषणा की गई. सार्जेंट मिलिंद किशोर खैरनार और कारपोरेल नीलेश नायन को आतंकवाद के खिलाफ संघर्ष में सर्वोच्च बलिदान के लिए मरणोपरांत शौर्य चक्र से सम्मानित करने की घोषणा की गई.

राष्ट्रपति ने शौर्य चक्र, परम विशिष्ट सेवा पदकों, चार उत्तम युद्ध सेवा पदकों सहित तमाम सैन्यकर्मियों और अर्धसैनिक बलों को वीरता पुरस्कारों तथा अन्य रक्षा अलंकरणों से सम्मानित करने का भी एलान किया.

थल सेना के मेजर विजयंत बिष्ट को कीर्ति चक्र से सम्मान देने की घोषणा की गई. वहीं थल सेना के कुल 9 वीरों को शौर्य चक्र से सम्मानित करने की घोषणा हुई. जिसमें मेजर अखिल राज आरवी, कैप्टन रोहित शुक्ला, कैप्टन अभिनव शुक्ला, कैप्टन प्रदीप शैर्य आर्य, हवालदार मुबारिक अली, हवालदार रबिंद्र थापा, नायक नरेंद्र सिंह, लांस नायक बाधेर हुसैन और पैराट्रूपर मानचू जैसे वीरों का नाम है. इन्हीं सैन्य पुरस्कारों में थल सेना के 19 लोगों को परम विशिष्ट सेवा मेडल, 4 उत्तम युद्ध सेवा मेडल, 32 नायकों को अति विशिष्ठ सेवा मेडल, 10 को युद्ध सेवा मेडल, 88 नायकों को सेना मेडल सहित विशिष्ठ सेवा मेडल और 34 मेन्शन इन डिस्पैच जैसे सम्मानों की घोषणा की गई

वायु सेना के शौर्य चक्र विजेताओं में कारपोरेल देवेंद्र मेहता, वायुसेना मेडल विंग कमांडर अंशुल सक्सेना, स्क्वाड्रन लीडर राजीव चौहान और स्क्वाड्रन लीडर कमल शर्मा के नाम रहा.

अर्धसैनिक बलों की बात करें तो दो सीआरपीएफ कोबरा कमांडो को शौर्य चक्र से सम्मानित करने की घोषणा की गई. शौर्य चक्र शांतिकाल में तीसरा सबसे बड़ा वीरता पुरस्कार है. उन्हें 2016 में झारखंड के लातेहार में नक्सल विरोधी अभियान में छह माओवादियों को ढेर करने के लिए ये सम्मान दिया जा रहा है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *