National/International

सचिन वाझे की टीम में शामिल अधिकारियों पर भी गिरेगी गाज? NIA दफ्तर पहुंचे 4 अफसर

नई दिल्ली | मुकेश अंबानी के घर के बाहर से बरामद हुई संदिग्ध कार के मामले में सचिन वाझे की टीम में शामिल अधिकारियों पर भी गाज गिर सकती है। मुंबई पुलिस के क्राइम इंटेलिजेंस यूनिट के चार सदस्य जो कि वाझे की टीम का हिस्सा थे, पूछताछ के लिए आज एनआईए ऑफिस पहुंचे हुए हैं। बता दें कि इस मामले में पुलिस ऑफिसर सचिन वाझे को एनाआईए ने शनिवार को ही गिरफ्तार कर लिया है। इस मामले में वाझे की गिरफ्तारी खुद मुंबई पुलिस पर सवाल उठा रही है। दूसरी ओर वाझे की गिरफ्तारी के बाद राजनीति भी शुरू हो गई है। वाझे की गिरफ्तारी पर शिवसेना नेता और सांसद संजय राउत ने उन्हें एक ईमानदार और सक्षम अधिकारी करार दिया। संजय राउत ने कहा है कि संदिग्ध कार और जिलेटिन की छड़े बरामद होने की घटना की जांच मुंबई पुलिस और एटीएस भी कर सकती थी। उन्होंने केंद्रीय जांच एजेंसी पर सवाल उठाते हुए कहा कि एंटीलिया के बाहर कार में मिली जिलेटिन की झणों की जांच मुंबई पुलिस की जिम्मेदारी थी, इसके लिए किसी राष्ट्रीय एजेंसी की कोई जरूरत नहीं थी।

संजय राउत ने केंद्रीय एजेंसियों पर उठाए सवाल

शिवसेना नेता और सांसद संजय राउत ने कहा है कि हम एनआईए का सम्मान करते हैं, लेकिन हमारी पुलिस भी इसकी जांच कर सकती थी। उन्होंने कहा कि केंद्रीय एजेंसियां बार-बार मुंबई में प्रवेश करती हैं और पुलिस का मनोबल गिराती है। यह राज्य में अस्थिरता पैदा करती हैं और मुंबई पुलिस और प्रशासन पर दबाव बनाती है।बता दें कि उद्योगपति मुकेश अंबानी के मुंबई स्थित घर ‘एंटीलिया’ के बाहर मिली कार के कथित मालिक मनसुख हिरेन की मौत मामले में विवादों में घिरे पुलिस अधिकारी सचिन वाझे से 12 घंटे की पूछताछ के बाद एनआईए ने शनिवार देर रात गिरफ्तार कर लिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *