National/International

‘केरल में कांग्रेस की तबाही पर मूकदर्शक बना हाईकमान’, पीसी चाको ने सोनिया गांधी को भेजा इस्‍तीफा

नई दिल्‍ली, 
केरल में विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस को बड़ा झटका लगा है। पार्टी के सीनियर नेता और गांधी परिवार के विश्‍वासपात्र रहे पीसी चाको ने इस्‍तीफा दे दिया है। चाको ने बुधवार को अपने इस्‍तीफे की घोषणा की। न्‍यूज एजेंसी ANI के मुताबिक, चाको ने पार्टी की अंतरिम अध्‍यक्ष सोनिया गांधी को अपना इस्‍तीफा भेज दिया है। चाको ने कहा कि केरल में कांग्रेस पार्टी दो धड़ों में बंटी हुई है। उन्‍होंने कहा कि वे हाईकमान से दखल देने की गुजारिश करते-करते थक गए हैं। चाको ने कहा कि केरल कांग्रेस में जो कुछ भी घट रहा है, आलाकमान उसे चुपचाप देख रहा है। चाको वही नेता हैं जिन्‍होंने करीब दो साल पहले गांधी परिवार को ‘देश का पहला परिवार’ बताकर बखेड़ा खड़ा कर दिया था। तब इसके लिए उनकी खासी आलोचना हुई थी और बीजेपी ने उनपर गांधी परिवार की चाटुकारिता का आरोप लगाया था।

चाको ने कहा, “मैं केरल से आता हूं जहां कांग्रेस जैसी कोई पार्टी नहीं है। वहां दो पार्टियां हैं- कांग्रेस (I) और कांग्रेस (A)। दो पार्टियों की कोऑर्डिनेशन कमिटी है जो KPCC की तरह काम कर रही है। केरल एक अहम चुनाव के मुहाने पर है। लोग कांग्रेस की वापसी चाहते हैं मगर शीर्ष नेता गुटबाजी में लगे हैं। मैं हाईकमान से कह चुका हूं कि यह सब खत्‍म होना चाहिए लेकिन हाईकमान दोनों समूहों के प्रस्‍तावो से भी सहमति जता रहा है।”
आज आलाकमान से नाराज, कभी खूब करते थे तारीफ
चाको का गांधी परिवार से मोहभंग हो गया लगता है। दो साल पहले तक वे उन्‍हें ‘भारत का प्रथम परिवार’ बता रहे थे। चाको ने तब कहा था कि “प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की भारत के पहले परिवार के बारे में नकरात्‍मक राय है। वह सच में भारत का पहला परिवार है। भारत उनका आभारी है… भारत आज जो है वो पंडित जवाहरलाल नेहरू की योजना और नेतृत्‍व की वजह से है।” तब केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने गांधी परिवार के बारे में चाको के बयान की निंदा करते हुए इसे चाटुकारिता की संस्कृति का प्रतीक बताया था।
वायनाड में भी 4 नेताओं ने दिया था इस्तीफा
पिछले हफ्ते पूर्व कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी के संसदीय क्षेत्र वायनाड में 4 नेताओं का इस्तीफा हुआ था। केरल प्रदेश कांग्रेस कमेटी के पूर्व सदस्य केके विश्वनाथन, केपीसीसी सचिव एमएस विश्वनाथन, डीसीसी महासचिव पीके अनिल कुमार और महिला कांग्रेस नेता सुजाया वेणुगोपाल ने पार्टी से इस्तीफा दिया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.