Health

डेंगू और चिकनगुनिया ना हो इसके लिए क्या‍ करें

डेंगू और चिकनगुनिया एक ही मच्छर से होता है और ये साफ पानी में पनपता है. इसलिए घर से ही डेंगू और चिकनगुनिया के मच्छरों को रोकने की शुरूआत करें. ऐसे में बाथरूम से लेकर रसोईघर तक में साफ पानी इकट्ठा ना करें. दूसरा बदन को पूरी तरह से ढककर रखें.

किन लोगों को कमजोर होता है इम्यून सिस्टम –
डेंगू और चिकनगुनिया के अटैक का प्रभाव सबसे ज्यादा बच्चों पर, कमजोर लोगों पर जिनका इम्यून सिस्टम कमजोर है उनपर सबसे ज्यादा होता है.

आपका इम्यून सिस्टम कमजोर है तो डेंगू और चिकनगुनिया वायरस बहुत जल्दी आपके शरीर में फैलेगा. हमारे शरीर के अंदर एंटीबॉडीज इस वायरस से लड़ने के लिए पैदा होते हैं. ऐसे में इम्यूनिटी ही वायरस को जल्दी खत्म करती है. लेकिन जिन लोगों की प्रतिरोधक क्षमता ही कमजोर है तो उनके शरीर में एंटीबॉडीज बनने में वक्त‍ लगता है. महिलाएं, बच्चे, बीमार, बुजुर्ग और कमजोर लोगों का अमूमन इम्यून सिस्टम कमजोर रहता है. तो आपको चाहिए कि सबसे पहले इम्यून सिस्टम मजबूत करें.

कैसे करें प्रतिरोधक क्षमता मजबूत-
गिलोय को कूटकर पीएंगे तो आपका इम्यून सिस्टम इतना मजबूत हो जाएगा कि डेंगू और चिकनगुनिया का मच्छर काटने पर भी आपको ये दोनों बीमारियां नहीं होंगी.

अगर मच्छर काट भी गया तो गिलोय का काढ़ा पी लें या फिर बाजार में मौजूद इसकी गोलियां छोटे बच्चों को एक-एक और बड़ों को दो-दो खा लेनी चाहिए.

बैक्टीरियल इंफेक्शन से बचाता है गिलोय-
आप मौसम बदलते ही अगर गिलोय का काढ़ा, पाउडर या गोलियां लेते रहेंगे तो डेंगू और चिकनगुनिया होगा ही नहीं. इतना ही नहीं, जो लोग नियमित रूप से गिलोय का सेवन करते हैं उन पर किसी भी तरह का बैक्टीरियल इंफेक्शन होता ही नहीं. बैक्टीरिया को रोकने और फैलने से बचाने का सबसे बड़ा काम गिलोय करता है.

प्लेटलेट्स बढ़ा सकता है गिलोय-
डेंगू और चिकनगुनिया दोनों ही स्थिति में गिलोय का सेवन करें. बुखार, डेंगू और चिकनगुनिया में यदि आप गिलोय लेंगे तो आपको आराम मिलेगा. आप यदि गिलोय का ताजा रस पीओ तो एक ही दिन में 25 हजार तक प्लेटलेट्स बढ़ सकते हैं.

बुखार, डेंगू और चिकनगुनिया में इन पांच चीजें सेवन करें–
गिलोय, एलोवीरा, पपीता, अनार, गेंहू ज्वारा. लीवर अच्छा करने के लिए पपीते के पत्तों का रस और अनार का रस लें. प्लेटलेट्स बढ़ाने के लिए गिलोय और एलोवीरा लें. अनार से उल्टी बंद हो जाएंगी और लीवर फंक्शन एकदम अच्छा हो जाएगा. इन सबसे साथ ही हीमोग्लोबिन कम होने लगता है और लीवर फंक्शन गड़बड़ होने लगता है तो उसमें गेंहू ज्वारा के पाउडर सेवन करें.

रामबाण है इन पांच चीजों का रस-
गिलोय, एलोवीरा, पपीता, अनार, गेंहू ज्वारा इन सबका जूस बनाइए और दो-दो घंटे के अंतराल में पिलाते रहिए फिर एक ही दिन में डेंगू का मरीज मरने से बच सकता है. बाबा रामदेव के मुताबिक, 100 फीसदी इसके नतीजे आपके सामने होंगे.

मनोज राजपूत 

समय दर्शन 

Leave a Reply

Your email address will not be published.