Health

क्या है आपका ब्लड ग्रुप, इन Blood Group के लोगों को हार्ट अटैक होने का खतरा है ज्यादा

तकनीक में जिस तेजी के साथ बदलाव आ रहा है उसी तेजी के साथ हमारी दिल से जुड़ी बीमारियां भी बढ़ती जा रही हैं। दिल की बीमारियां भी अब आम बन चली हैं। विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के मुताबिक दुनियाभर में दिल से संबंधित बीमारियां (Heart Diseases) लोगों की मौत का सबसे बड़ा कारण हैं। इसी के साथ ही एक नए शोध में भी यह दावा किया गया है कि जिन लोगों का ब्लड ग्रुप O नहीं है, उन लोगों में दिल की बीमारियां होने का खतरा ( Risk of Heart Diseases) भी ज्यादा रहता है।
इस रिसर्च के मुताबिक जिन लोगों का ब्लड ग्रुप O नहीं है उन्हें दिल का दौरा (Heart Attack) पड़ने का ज्यादा खतरा रहता है। बताया जा रहा है कि शोधकर्ताओं (Researchers) ने यह शोध 4 लाख से ज्यादा लोगों पर किया है। इसी शोध के बाद यह खुलासा हुआ है कि जिन लोगों का O ब्लड ग्रुप (O Blood Group) है उनकी तुलना में A या B ब्लड ग्रुप वाले लोगों में हार्ट अटैक का खतरा करीब आठ फीसदी ज्यादा होता है। आपको बता दें कि इस शोध को अमेरिकन हार्ट एसोसिएशन (AHA) ‘मेडिकल जर्नल्स आर्टेरियोस्क्लेरोसिस, थ्रोम्बोसिस और वैस्कुलर बायोलॉजी’ में भी प्रकाशित (Published) किया जा चुका है।

आपको बता दें कि 2017 में भी यूरोपियन सोसाइटी ऑफ कार्डियोलॉजी ने एक रिसर्च (Research) की थी। इस शोध में 13 लाख से ज्यादा लोगों को शामिल किया गया था। इस शोध में पता चला कि नॉन O ब्लड ग्रुप वाले लोगों में हार्ट अटैक सहित दिल की बीमारियों का खतरा 9 फीसदी ज्यादा रहता है। इसके अलावा एक रिसर्च में शोधकर्ताओं ने A और B ब्लड ग्रुप की तुलना O ब्लड ग्रुप से की थी। इस शोध में भी यही खुलासा हुआ था कि O ब्लड ग्रुप के लोगों की तुलना में B ब्लड ग्रुप (B Blood Group) वाले लोगों को मायोकार्डिअल इन्फ्रक्शन यानी हार्ट अटैक का खतरा 15 फीसदी ज्यादा रहता है।
इसके अलावा O ब्लड ग्रुप की तुलना में A ब्लड ग्रुप वाले लोगों को हार्ट फेल (Heart Failure) होने का खतरा 11 फीसदी ज्यादा हो जाता है। यहां आपको बता दें कि हार्ट फेल (Heart Failure) और हार्ट अटैक दोनों ही दिल की बीमारियां (Heart Diseases) हैं, लेकिन हार्ट फेल धीरे-धीरे होता है, जबकि हार्ट अटैक अचानक से हो जाता है। इसलिए यह भी कहा जा सकता है कि हार्ट अटैक कुछ समय बाद हार्ट फेल होने का कारण भी बन सकता है।

यूरोपियन सोसाइटी ऑफ कार्डियोलॉजी (European Society of Cardiology) ने इसका कारण भी बताया है। यूरोपियन सोसाइटी के मुताबिक O ब्लड ग्रुप की तुलना में बाकी ब्लड ग्रुप के लोगों में इसलिए दिल से जुड़ी बीमारियां ज्यादा होती हैं क्योंकि इनमें रक्त के थक्के (Blood Clots) बनने की संभावना ज्यादा होती है। 2017 में हुई एक स्टडी बताती है कि O ब्लड ग्रुप के अलावा दूसरे ब्लड ग्रुपों में नॉन-वीलब्रैंड फैक्टर (एक ब्लड क्लॉट बनाने वाला प्रोटीन) का कंसंट्रेशन ज्यादा होता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.