General Knowlage

स्पेस में रेडिएशन से बनी पगडंडी देखकर वैज्ञानिक लगा सकेंगे एलियन स्पेसशिप का पता

 

गैजेट डेस्क. वैज्ञानिकों का मानना है कि अगर ब्रह्मांड में ऐसी उन्नत एलियन सभ्यता है, जो ब्लैक होल के रेडिएशन की ऊर्जा लेकर अपने स्टारशिप चलाती हैं। तो गामा टेलिस्कोप से उनके होने के प्रमाण मिल सकते हैं। कंसास स्टेट यूनिवर्सिटी के गणितज्ञ लुइस क्रेन के मुताबिक, ऐसे स्पेसशिप जहां से गुजरते हैं, वहां उनके गुजरने से गामा किरणों का एक रास्ता बनता जाता है। खगोलशास्त्री गामा टेलिस्कोप का इस्तेमाल करके इस तरह के रास्ते का पता लगा सकते हैं।

ऐसे में एलियन्स ऊर्जा के अकूत भंडार माने जाने वाले ब्लैक होल की ऊर्जा को भी अपने इस्तेमाल में लेगी। इस तरह यह सभ्यता छोटे ब्लैक होल्स से निकलने वाली रेडिएशन से चलने वाली स्टारशिप का निर्माण कर सकते हैं। ऐसे में वे हमारे लिए अपने होने के सबूत अंतरिक्ष में छोड़ सकते हैं।

गामा टेलिस्कोप से ट्रेस की जा सकती है रेडिएशन ट्रेल

गणितज्ञ लुइस क्रेन की थ्योरी के मुताबिक, अगर किसी स्पेसशिप को ब्लैक होल रेडिएशन से ऊर्जा मिल रही है, तो वह जिस रास्ते पर चलेगी वहां गामा किरणों का एक रास्ता बनाती जाएगी। लुइस ने अपने रिसर्च पेपर में दावा किया है कि इस थ्योरी को साबित करने के लिए एक्सपर्ट्स को गामा रे टेलिस्कोप का इस्तेमाल करना होगा। क्रेन कहते हैं कि यदि कुछ एडवांस सिविलाइजेशन के पास इस तरह की स्पेसशिप होंगी और यदि हम इस टेलिस्कोप से निकलने वाली बीम की दिशा में 100 से 1000 प्रकाश वर्ष (प्रकाश द्वारा एक साल में चली दूरी) तक की दूरी पर भी हों, तो अभी इस्तेमाल में लाए जाने वाले वीएचई गामा रे टेलिस्कोप इस बीम को डिटेक्ट कर सकता हैं।

क्रेन ने बताया कि यूनिवर्स में पहले भी गामा किरणों के कई स्रोत खोजे जा चुके हैं, जिनका कोई प्राकृतिक कारण समझ नही आया। भविष्य में स्पेस टेलिस्कोप से इन पर नजर रखकर पता लगाया जा सकता है कि कहीं यह गामा किरण किसी आर्टिफिशियल स्रोत से तो नहीं आ रही।

ऊर्जा के भंडार होते हैं ब्लैक होल
ब्लैक होल की ऊर्जा से चलने वाले स्पेसशिप का कॉन्सेप्ट सबसे पहले 1970 में साइंस फिक्शन के रूप में सामने आया था। लेकिन क्रेन के अनुसार ब्लैक होल ऊर्जा का अकूत भंडार है। वैज्ञानिकों का मानना है कि एलियन ब्लैक होल से जितनी चाहे उतनी ऊर्जा निकाल सकते हैं और एडवांस एलियन तो खुद ब्लैक होल बना भी सकते हैं। इंसानों को इस तरह की तकनीक का निर्माण करने के लिए अभी बहुत समय लगेगा, तो अगर कोई एलियन इस तरह की स्टारशिप में ट्रेवल कर रहे हैं, तो वे इंसानों से कहीं आगे होंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *