Entertainment

कंगना ने ‘पद्मावती’ विवाद पर कहा, हम सभी को एकजुट होने की जरूरत

कंगना रनौत का कहना है कि फिल्म बिरादरी को निर्देशक संजय लीला भंसाली और अभिनेत्री दीपिका पादुकोण का समर्थन करने की जरूरत है. फिल्म ‘पद्मावती’ के चलते दोनों को जान से मारने की धमकी मिली है.

30 वर्षीय अभिनेत्री ने हाल में शबाना आजमी के नेतृत्व में शुरू किये गये ‘दीपिका बचाओ’ अभियान का समर्थन करने से इनकार कर दिया था लेकिन कहा था कि वह फिल्म नगरी के अपने साथी कलाकारों के साथ खड़ी हैं. बीती रात आयोजित रीबॉक के ‘फिट टू फाइट’ पुरस्कार समारोह से इतर कंगना ने कहा, ‘‘हमारे आस पास जो कुछ भी हो रहा है, उसे लेकर हमें एकजुट होने की जरूरत है. चाहे अकेले या फिर मिलकर अगर हम अपने साथी कलाकारों की मदद कर सकते हैं तो हमें ऐसा करना चाहिए. हमारा पूरा समर्थन अपने साथी कलाकारों के साथ है.’’

इस घटना की तुलना उन्होंने अपनी बहन पर हुए तेजाब हमले से की और कहा कि ऐसी चीजें समाज के पितृसत्तात्मक सोच को रेखांकित करती हैं और इनकी निंदा की जानी चाहिए. उन्होंने कहा, ‘‘यह बहुत गलत है लेकिन इससे लोगों को हैरान नहीं होना चाहिए क्योंकि जैसा सभी जानते हैं कि जब मेरी बहन स्कूल में थी तब उस पर तेजाब हमला हुआ था या अब जबकि मैं पेशेवर माहौल में हूं एक सुपरस्टार (रितिक रोशन) ने मुझे जेल पहुंचाने की कोशिश की. हमारे समाज में यह सब आम है.’’ उन्होंने कहा, ‘‘आप किसी एक व्यक्ति या अतिराष्ट्रवाद या पितृसतात्मकता या अपनी दकियानूसी सोच पर हमला करना चाहते हैं? हमें इन चीजों पर हमला करना चाहिए… हमें सोच पर हमला करना होगा, हमें यह करना होगा और हम यह कर रहे हैं चाहे यह हमारे काम, भाषण या फिर हमारी फिल्मों के माध्यम से हो.’’

अभिनेत्री ने कहा कि फिल्में एक शक्तिशाली माध्यम हैं और यह कहना गलत होगा कि किसी को उनके बारे में भावनात्मक नहीं होना चाहिए. कंगना ने इससे पहले एक बयान में कहा था कि वह ऐसी किसी अर्जी पर दस्तखत नहीं करेंगी क्योंकि इसे ऐसे शख्स (शबाना आजमी) ने शुरू किया है जिन्होंने मेरा ‘‘चरित्र हनन’’ किया.

उन्होंने कहा कि वह निजी तौर पर दीपिका का समर्थन करती हैं लेकिन वह इस अर्जी पर हस्ताक्षर नहीं करेंगी. उन्होंने कहा, ‘‘हमारे देश में मौजूदा स्थिति के बारे में मेरे अपने विचार और ष्टिकोण हैं. मैं ऐसी कई चीजों से दूरी बरतती हूं या उस शख्स द्वारा शुरू किये गये ‘दीपिका बचाओ’ नामक महिलावादी आंदोलन का हिस्सा नहीं बनने जा रही हूं जिसने उस वक्त मेरा चरित्र हनन किया था जब मुझे डराया धमकाया जा रहा था. वह भी उन्हीं में से एक हैं.’’ उन्होंने कहा कि अनुष्का ने मेरी बात समझी लेकिन मुझे खुशी है कि उन्होंने मुझसे संपर्क किया.

Leave a Reply

Your email address will not be published.