Chhattisgarh

पेंशन समय पर देना पहली प्राथमिकता, शिकायत पर तत्काल करें कार्रवाई

समीक्षा बैठक में कलेक्टर अंकित आनंद ने दिए निर्देश

दुर्ग. हितग्राही मूलक योजनाओं का पेंशन समय पर देना प्रशासन की सबसे पहली प्राथमिकता है। इस संबंध में किसी भी तरह की शिकायत आए तो इसके निराकरण के लिए तत्काल कार्रवाई करें। यह निर्देश कलेक्टर अंकित आनंद ने समीक्षा बैठक में दिए। उन्होंने कहा कि नियमित रूप से यह देखें कि हितग्राहियों के खाते में डीबीटी (डायरेक्टर बेनेफिट ट्रांसफर) हो रहा है या नहीं, यदि किसी तरह की बाधा आती है तो निराकरण कर त्वरित रूप से पेंशन उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें। कलेक्टर ने कहा कि अपने दौरों में वे नियमित रूप से ग्रामीणों से इस संबंध में पूछते हैं। इस संबंध में यदि प्रशासनिक ढिलाई कहीं सामने आई तो कड़ी कार्रवाई की जाएगी। समीक्षा बैठक में अपर कलेक्टर संजय अग्रवाल एवं डीएफओ धम्मशील गणवीर भी उपस्थित थे।

स्कूलों से लगे खटाल हटाये जाएंगे

कलेक्टर ने उन खटालों को चिन्हांकन कर हटाने कहा जो स्कूलों से बिल्कुल लगे हुए हैं। उन्होंने कहा कि ऐसे खटालों की वजह से कभी-कभी मवेशी भी स्कूल परिसर में घुस आते हैं। ऐसा अस्वास्थ्यप्रद माहौल बच्चों के लिए बिल्कुल अच्छा नहीं है। इनका चिन्हांकन कर नियत समय में इन्हें हटाकर रिपोर्ट प्रस्तुत करें। कलेक्टर ने कहा कि समय-समय पर बच्चों की मेडिकल जांच भी आवश्यक है। मेडिकल जांच के पश्चात ऐसे चिन्हांकित बच्चे जिन्हें सर्जरी की जरूरत है के लिए तत्काल अग्रिम कार्रवाई करें। स्कूल शिक्षा विभाग, महिला एवं बाल विकास विभाग तथा स्वास्थ्य विभाग यह सुनिश्चित करे कि कोई भी चिन्हांकित बच्चा इलाज से वंचित न रहे।

डाग बाइट के मामले बढ़े, नियंत्रित करने पुख्ता कदम उठाए निगम

कलेक्टर ने कहा कि जिला अस्पताल एवं अन्य स्वास्थ्य केंद्र के निरीक्षण के दौरान उन्होंने देखा है कि डाग बाइट के मामले पिछले सालों की तुलना में बढ़े हैं। इनकी संख्या के नियंत्रण के लिए निगम अभियान चलाए। कलेक्टर ने अवैध होर्डिंग्स पर भी कार्रवाई करने के निर्देश दिए। शहरी क्षेत्र में हितग्राही मूलक योजनाओं में बनने वाले आवासों के कार्यों में प्रगति लाने के निर्देश भी उन्होंने दिए।

बढ़ेगा हरियाली का दायरा

कलेक्टर ने पौधरोपण के कार्य के लिए भूमि के चिन्हांकन की समीक्षा भी की। उन्होंने कहा कि दुर्ग जिले में हरियाली का दायरा बढ़ाने का कार्य प्राथमिकता का है। आप लोगों ने इसके लिए भूमि चिन्हांकित कर ली है। अब इनमें पौधरोपण की तैयारी कर लें ताकि जल्द से जल्द बड़े क्षेत्र में हरियाली का प्रसार किया जा सके। कलेक्टर ने तालाबों के भराव की समीक्षा भी की। जलसंसाधन विभाग के अधिकारियों ने बताया कि अब तक 587 तालाब भरे जा चुके हैं। कुछ ऐसे तालाब हैं जिनमें परंपरागत रूप से पानी नहीं भरा जा रहा है। कलेक्टर ने ऐसे तालाबों का चिन्हांकन कर यहां मनरेगा कार्य आरंभ कर इन्हें पुनर्जीवित करने के निर्देश दिए।

ऐसे क्षेत्रों में कौशल विकास को प्राथमिकता दें जहां रोजगार की अधिक संभावना

कलेक्टर ने कौशल विकास के कार्यों की समीक्षा भी की। उन्होंने कहा कि प्रशिक्षण के साथ ही प्लेसमेंट की दिशा में भी कार्य करें। कौशल विकास में उन क्षेत्रों को अधिक ध्यान दें जहां रोजगार अथवा स्वव्यवसाय के लिए अच्छी संभावना उत्पन्न हो रही हो।

लंबे समय से अनुपस्थित शिक्षकों की सेवा होगी समाप्त

कलेक्टर ने शिक्षा विभाग के अधिकारियों को उन शिक्षकों की सूची बनाने के निर्देश दिए जो लंबे समय से अपने कार्य से अनुपस्थित हैं। उन्होंने सेवा नियमों के मुताबिक कार्रवाई करते हुए ऐसे लोगों का चिन्हांकन कर सेवा से पृथक करने के निर्देश दिए।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *