Chhattisgarh General Knowlage

प्रदेश के इस मतदान केंद्र में महज आधे घंटे में पड़े 150 फीसदी वोट!

कोरिया. कोरबा लोकसभा सीट क्षेत्र में प्रदेश का सबसे छोटा मतदान केंद्र कोरिया जिले के शेरा डांड़ में बनाया गया है। ये अस्थाई मतदान केंद्र केवल 4 मतदाताओं के लिए बनाया गया है। सुबह 7 बजते ही यहां मतदान शुरू हो गया। साढ़े 7 बजते ही यहां मतदानकर्मियों समेत कुल 6 वोट पड़ चुके थे।

पत्तों की झोपड़ी और पंडाल सा ये बूथ कोरिया जिले के सुदूर सेराडांड का मतदान केंद्र है। बूथ की तस्वीर से भी रोचक है। दरअसल, इस बूथ में केवल चार मतदाता हैं। कोई मतदाता न छूटे, इसलिए यहां भी बूथ बनाया गया। खास तो यह है कि यहां मतदाताओं से दुगुने यानी करीब 10 लोगों की ड्यूटी लगाई गई है वोटिंग कराने के लिए। 4 मतदानकर्मी और 6 सुरक्षाकर्मी। राज्य की सीमा यानी बलरामपुर के करीब यह गांव भरतपुर-सोनहत विधानसभा का हिस्सा है। यहां केवल एक ही परिवार रहता है। यह प्रदेश का सबसे कम वोटरों वाला बूथ है।
तीन वोटर एक ही परिवार के
सेराडांड में रहने वाले चार वोटरों में से तीन लोग एक ही परिवार के सदस्य हैं। सेराडांड सोनहत विकासखंड की ग्राम पंचायत चंदहा से करीब 12 किमी दूर है। जंगल और पहाड़ों के बीच ऊबड़-खाबड़ रास्तों से होकर मतदान केंद्र तक आने के लिए इन मतदाताओं को काफी मुश्किलें उठानी पड़ती थीं। लिहाजा आयोग ने यहां भी बूथ बना दिया। अब परेशानी थी कि कोई सरकारी भवन नहीं है तो बूथ कहां बनाएं। इसके लिए भी तरकीब निकाली गई। लकड़ियों और पेड़ के पत्तों से झोपड़ी तैयार की गई। ऊपर पंडाल लगा दिया गया और बूथ तैयार हो गया। कोरिया से इस बूथ की दूरी करीब 110 किमी है।
इधर शादियों का सीजन होने के बावजूद मतदान पर्व उसपर हावी होता नजर आया। बैकुंठपुर के ग्राम पंचायत देवाडांड के कोचका पोलिंग बूथ में विदाई से पहले दो सगी बहनें साधाना और रचना ने विदाई से पहले मतदान किया। वहीं इधर दुर्ग लोकसभा क्षेत्र के ग्राम सोरम में बारात स्वागत से पहले किया दुल्हन मीनू वर्मा ने मतदान कर लोकतंत्र के इस पर्व में अपनी सहभागिता दिखाई। इसी लोकसभा क्षेत्र के ग्राम कोटनी (दुर्ग ग्रामीण) मे शादी के लिए तैयार दो बहनों ने हल्दी की रस्म के तुरंत बाद मतदान कर अपनी जिम्मेदारी निभाई।
100 से ऊपर के बुजुर्ग को आते देख चकित रह गए लोग
मतदान पर्व में बुढ़ापा, असक्तता, बीमारी भी बाधा नहीं बन सकी। सारी बाधांओं को तोड़कर लोग वोट देने पहुंचे। चिरमिरी के गोदीपारा के 69 नंबर बूथ में 110 वर्षीय बुजुर्ग महिला विभा रानी चक्रवर्ती ने मतदान किया। इनके इस जज्बे को देखकर लोगों ने दांतों तले अंगुली दबा ली। शायद ये तस्वीर उन लोगों के लिए आइना है जो घरों में बैठकर ये सोचते हैं कि इतनी गर्मी और तेज धूप में लाइन में लगकर वोट देने आखिर क्यों जाए। कोई भी सरकार बने, क्या फर्क पड़ता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.