Chhattisgarh

देश में 3 माह में नक्सली हिंसा की 39 वारदातें, 11 जवान हुए शहीद, 20 नागरिकों ने गंवाई जान

छत्तीसगढ़ में ही 10 घटनाएं, भाजपा विधायक सहित 4 नागरिकों की मौत, 10 जवान भी हुए शहीद
साउथ एशिया टेररिज्म पोर्टल के अनुसार, यूपीए-2 की अपेक्षा मोदी सरकार में घटनाओं में आई कमी

मोहनीश श्रीवास्तव। रायपुर. लोकसभा चुनाव के मतदान से महज 39 घंटे पहले मंगलवार शाम को छत्तीसगढ़ का बस्तर इलाका नक्सली धमाकों से हिल गया। इस हमले में भाजपा विधायक भीमा मंडावी की मौत हो गई, वहीं चार जवान भी शहीद हो गए। इस घटना ने न केवल छत्तीसगढ़, बल्कि देश का ध्यान एक बार फिर नक्सल की ओर खींचा है। आंकड़ों पर गौर करें तो देश में पनप रहे इस नक्सलवाद की महज चार माह में ही 39 घटनाएं हो चुकी हैं। इसमें 11 जवान शहीद हो गए, जबकि 20 नागरिकों ने भी अपनी जान गंवाई। खास बात यह है कि अकेले छत्तीसगढ़ में ही 10 घटनाएं हुईं। जिसमें 4 नागरिकों की मौत के साथ ही 10 जवान भी शहीद हुए हैं।
पिछले कुछ सालों में नक्सली हमले में जवानों की शहादत में आई कमी

साउथ एशिया टेररिज्म पोर्टल के ओपन डेटाबेस के अनुसार, जनवरी 2019 से 8 अप्रैल 2019 तक देश में कुल 38 माओवादी हमले हो चुके थे। इन हमलों में जहां 7 जवान शहीद हुए, वहीं 19 नागरिक और 41 नक्सली भी मारे गए। वहीं छत्तीसगढ़ में हुए हमले के बाद यह आकंड़ा एक दिन बाद ही बढ़ गया है। हालंकि पिछले कुछ सालों में इस तरह के नक्सली हमलों में जवानों के शहीद होने की संख्या में कमी आई है।

वर्ष 2014 तक देश में 185 नक्सली हमले हो चुके थे। जबकि इससे उलट छत्तीसगढ़ में पिछले 5 सालों में नक्सली वारदातों में इजाफा ही हुआ है। वर्ष 2014 में जहां 53 नक्सली वारदातों में 25 नागरिकों ने जान गंवाई व 63 जवान शहीद हुए, वहीं वर्ष 2018 के दिसंबर तक घटनाओं का आंकड़ा बढ़कर 134 पर पहुंच गया। इन हमलों में 59 नागरिक मारे गए और 57 जवान शहीद हुए। हालांकि इन 5 सालों में 433 नक्सली भी मारे गए।

वर्ष 2010 से अब छत्तीसगढ़ में हुई बड़ी नक्सली वारदातें

09 अप्रैल, 2019 : दंतेवाड़ा के नकुलनार में भाजपा विधायक भीमा मंडावी की मौत, 4 जवान शहीद
07 अप्रैल, 2019 : राजनांदगांव के मानपुर में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की सभा से पहले तीन सीरियल ब्लास्ट
05 अप्रैल, 2019 : धमतरी में सीआरपीएफ जवान शहीद व अधिकारी घायल
04 अप्रैल, 2019 : कांकेर में बीएसएफ के एएसआई सहित 4 जवान शहीद
30 अक्टूबर, 2018 : दंतेवाड़ा के अरनपुर में दूरदर्शन टीम पर हमला। कैमरामैन की हत्या व 2 सीआरपीएफ जवान शहीद
27 अक्टूबर, 2018 : बीजापुर में सीआरपीएफ के वाहन को विस्फोट से उड़ाया। चार जवान शहीद, दो जख्मी
13 मार्च, 2018 : सुकमा में आईईडी ब्लास्ट में सीआरपीएफ के 9 जवान शहीद
24 अप्रैल, 2017 : सुकमा के बुर्कापाल में आरओपी पार्टी पर हमला, सीआरपीएफ के 25 जवान शहीद, 6 घायल
11 मार्च 2017 : सुकमा में सीआरपीएफ के 11 जवान शहीद
12 अप्रैल, 2014 : बीजापुर व दरभा घाटी में 5 जवान शहीद, 7 मतदानकर्मी मारे गए
11 मार्च, 2014 : सुकमा में सीआरपीएफ के 15 जवान शहीद
25 मई, 2013 : सुकमा के दरभा घाटी में महेंद्र कर्मा, नंद कुमार पटेल, विद्याचरण शुक्ल सहित 25 कांग्रेसी नेताओं की हत्या
06 अप्रैल, 2010 : दंतेवाड़ा स्थित मुकराना के जंगलों में सीआरपीएफ के गश्ती दल पर हमला, सीआरपीएफ के 74 जवानों सहित जिला पुलिस का एक हेड कांस्टेबल शहीद

Leave a Reply

Your email address will not be published.