Chhattisgarh

पटवारी को किडनेप कर की मारपीट, लूटे 16 हजार रुपए, दो आरोपी गिरफ्तार, पुलिस जुटी जांच में

समय दर्शन:-  कवर्धा. जिले में एक पटवारी को किडनेप कर 16 हजार लूट लिए हैं. पटवारी आज शाम को सिनेमा हॉल से फिल्म देखकर निकल रहे थे. तभी स्कॉर्पियों सवार युवकों ने खुद को बिलासपुर क्राइम ब्रांच का अफसर बताकर उसे उठा लिया. आरोपियों ने पहले पटवारी से मारपीट की और फिर जेब में रखे रुपए को लूट लिये. पटवारी सतानंद चंद्राकर ने कोतवाली थाने में आरोपियों के खिलाफ शिकायत दर्ज करा दी है. पुलिस ने सतानंद को मेडिकल के लिए जिला अस्पताल भेज दिया है.

 

पीड़ित सतानंद चंद्राकर ने बताया कि वह घुघरीकला हल्का नंबर 18 में पदस्थ है. वह सिद्धि विनायक प्लाजा से शाम 6 बडे फ़िल्म देखकर घर जाने के लिए निकल रहे थे. उसी वक्त स्कार्पियों आई और खुद को बिलासपुर क्राइम ब्रांच का अफसर बताकर उसे गाड़ी में बैठा लिया. स्कॉपियो के पीछे एक और गाड़ी थी, जिसमें 6 लोग सवार थे. कुल 10 लोगों की टीम थी. आरोपियों ने पहले मारपीट की और फिर जेब से 16 हजार रुपए लूट लिये.

 

जानकारी के मुताबिक जब पटवारी को सिद्धि विनायक चौक से उठाया तो पास के मोबाइल दुकानदार ने आरोपियों को रोकने की कोशिश की, लेकिन आरोपियों ने उसे धमकी देकर भगा दिया. इसके बाद उन्होंने सतानंद के दोस्तों को इसकी सूचना दी. उसके दोस्तों ने स्कार्पियों का पीछा करते हुए खालसा स्कूल गुरुनानक चौक पर आरोपियों को रोक लिया. उसके दोस्तों ने पहले सतानंद को उसके चंगुल से छुडया. फिर दो आरोपी को पकड़कर कोतवाली थाना ले लाया, बाकी आरोपी मौके से फरार हो गया.

आरोपियों ने अभी कुछ नहीं बताया

मारपीट करने वाले दोनों आरोपी से पुलिस पूछताछ कर रही है. संजय बंजारे और विजेंद्र खांडेकर बिलासपुर थाने के क्राइम ब्रांच में पदस्थ बता रहे हैं. दोनों पटवारी का अपहरण कर स्कोर्पियो में भरकर ले जा रहे थे. मारपीट करने का कारण अभी तक अज्ञात है. आगे की कार्रवाई पुलिस कर रही है.

 

पुलिस का गोलमोल जवाब

थाना प्रभारी मुकेश सोम का कहना है कि अरुण वर्मा और प्रदीप चन्द्राकर के खिलाफ बिलासपुर के सरकंडा थाने में 420 का मामला दर्ज है, उसको नहीं पकड़कर दूसरे से मारपीट की है. खबर लिखे जाने तक कवर्धा सिटी कोतवाली पुलिस मामले की जानकारी बिलासपुर पुलिस को नहीं दी है. पीड़ित पक्ष थाने में हंगामा कर रहे हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.