Chhattisgarh

सेक्स सीडी कांड से जुड़े कारोबारी खनूजा ने की थी खुदकुशी, शरीर पर नहीं मिले चोट; पोस्टमार्टम रिपोर्ट में दावा

रायपुर.प्रदेश के मंत्री राजेश मूणत की कथित सेक्स सीडी मामले में सीबीआई के घेरे में फंसे कारोबारी रिंकू खनूजा ने खुदकुशी की है। फांसी के फंदे में लटकने से कारोबारी की मौत हुई है। उसके शरीर पर किसी तरह के चोट के निशान नहीं मिले है। बुधवार शाम कारोबारी के पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद उसकी मौत को लेकर स्थिति स्पष्ट हो गई। पुलिस अब कारोबारी के खुदकुशी के कारणों की तलाश करने में जुट गई है? ये पता लगाया जा रहा है कि वह क्यों परेशान था? क्या सीबीआई के पूछताछ से वह प्रताड़ित था?

पोस्टमार्टम के 18 घंटे पहले फांसी लगाने से मौत की पुष्टि

सिविल लाइन टीआई यदुमणी सिदार ने बताया कि पोस्टमार्टम करने वाले डॉक्टर ने शाम 4 बजे कारोबारी की पोस्टमार्टम रिपोर्ट पुलिस को सौंप दी है। फांसी लगाने से कारोबारी की मौत की पुष्टि हुई है। कारोबारी की मौत पोस्टमार्टम के 18 घंटे पहले हुई है। इससे स्पष्ट है कि कारोबारी ने सोमवार की रात लगभग 9 से 10 बजे के बीच खुदकुशी की है। वह सोमवार की सुबह 8 बजे से गायब था। माना जा रहा है कि वह कहीं बाहर रहा और रात को दुकान पहुंचकर उसी समय फंदा लगाकर झूल गया। बुधवार को कारोबारी के घर वालों का बयान नहीं हो सका। पुलिस घर बयान लेने पहुंची थी, लेकिन परिवार के सदस्य सदमें में थे। इस वजह से किसी का बयान नहीं लिया गया अलबत्ता दुकान मालिक सुशील सचदेवा को बयान लिया गया है। उसने ही मंगलवार को सुबह 10 बजे दुकान का ताला खुला देखकर कारोबारी के परिजनों को सूचना दी थी। दुकान के बाहर रात से उसकी बाइक भी खड़ी थी।

सीबीआई ने दो संदेहियों को पूछताछ के लिए तलब किया

दूसरी ओर सीबीआई ने सीडी कांड की जांच और तेज कर दी है। बुधवार को होटल कारोबारी हरमीत सिंह नाम के व्यक्ति को बुलाने की चर्चा है। उनके बाद एक और संदेही को पूछताछ के लिए तलब किया गया। वे कौन हैं? इसे लेकर स्थिति साफ नहीं है। सीबीआई की टीम बुधवार को दफ्तर में कागजी कार्रवाई में उलझी रही। अफसरों की कई बार बैठकें भी हुई। माना जा रहा है कि उनके बीच खनूजा आत्महत्या को लेकर पैदा हुई स्थिति को लेकर मंथन हुआ है। उनकी ओर से कोई रिपोर्ट भेजी गई है या नहीं इसे लेकर भी अफसरों ने चुप्पी साध ली है।

परिजनों के बयान पर टिकी जांच

पोस्टमार्टम रिपोर्ट से लगभग ये स्पष्ट हो गया कि कारोबारी की हत्या नहीं हुई है। अब पुलिस दो बिंदुओं पर जांच कर रही है कि कारोबारी ने किन परिस्थितियों में खुदकुशी की? हालांकि रिंकू के परिजनों ने पुलिस से अब तक सीबीआई प्रताड़ना की मौखिक शिकायत की है। उनकी ओर से लिखित में कोई शिकायत नहीं की है। विशेषज्ञों के अनुसार प्रताड़ना पर सीबीआई के जवाब के बाद आगे कार्रवाई की जाएगी।

भूपेश ने पूछा- चुप क्यों सरकार
रिंकू खनूजा आत्महत्या को लेकर राजनीति तेज हो गई है। कांग्रेस जहां लगातार भाजपा सरकार पर हमले बोल रही है वहीं भाजपा नेता पूरी तरह चुप्पी साधे हुए हैं। प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया ने राज्य सरकार को कठघरे में खड़ा करते हुए सीबीआई के दुरुपयोग का आरोप लगाया। वहीं पीसीसी चीफ भूपेश बघेल ने ट्वीट कर पूछा कि हर छोटी-छोटी बातों पर प्रतिक्रिया देने वाली सरकार चुप क्यों हैं? उन्होंने लिखा है कि क्या यह चुप्पी किसी को बचाने का इशारा है। कांग्रेस के आठ नेताओं ने कारोबारी रिंकू खनूजा के परिजनों से मुलाकात की। इसके बाद विधायक गुरुमुख सिंह होरा ने कहा कि परिवार काफी सहमा और डरा हुआ है। सीबीआई पिछले 3 दिन से उसे पूछताछ के लिए बुला रही थी। होरा ने आरोप लगाया कि सीबीआई की डर की वजह से रिंकू ने आत्महत्या की है। उन्होंने यह भी कहा कि जांच के बाद स्पष्ट होगा कि किस वजह से रिंकू ने ऐसा आत्मघाती कदम उठाया। पूर्व विधायक कुलदीप जुनेजा ने कहा कि मामला काफी संदेहास्पद है इसकी मजिस्ट्रियल जांच होनी चाहिए। इस टीम में महापौर प्रमोद दुबे, विकास उपाध्याय, किरणमयी नायक, घनश्याम राजू तिवारी आैर महेंद्र छाबड़ा शामिल थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.