Chhattisgarh

हमेशा दिल से चाहता था 27 जातियों की मात्रात्मक त्रुटियां सुधर जाएं: मुख्यमंत्री

कांकेर.एसटीएससी समाज द्वारा आयोजित आभार कार्यक्रम को संबोधित करते मुख्यमंत्री रमनसिंह ने कहा मेरे दिल के सबसे करीब योजनाओं में पहले नंबर पर है खाद्यान्न योजना जिसका लाभ प्रदेश के 55 लाख परिवारों को मिल रहा है। इसके बाद 15 सालों में किसी फैसले से सबसे ज्यादा खुशी मिली तो वो है एसटीएससी की 27 जातियों के मात्रात्मक त्रुटि में संशोधन करना। अजाजजा समाज के लोग मात्रात्मक त्रुटि के चलते जाति प्रमाण पत्र नहीं बनने से परेशान थे। पिछली किसी सरकार ने ध्यान नहीं दिया।

भाजपा सरकार ने निर्णय लेकर त्रुटि सुधार किया जिससे 40 लाख परिवारों के जीवन में परिवर्तन आएगा। चार माह में बस्तर का एक भी घर ऐसा नहीं होगा जहां बिजली नहीं होगी। कांग्रेस सिर्फ गरीबी हटाओ का नारा लगाती रही लेकिन भाजपा ने गरीबों के लिए काम करके दिखाया।

11 फीट ऊंची अंबेडकर प्रतिमा का अनावरण
मुख्यमंत्री ने कलेक्टोरेट के सामने डा भीमराव अंबेडकर की आदमकद प्रतिमा का अनावरण किया। इसकी ऊंचाई 11 फीट तथा वजन 3 टन है। प्रतिमा का निर्माण सिमेंट, प्लास्टर आफ पेरिस व लोहे की छड़ से किया गया है। ऊपर से इसे मेटल कलर किया गया है। चार माह में बस्तर का एक भी घर ऐसा नहीं होगा जहां बिजली नहीं होगी। भाजपा ने गरीबों के लिए काम करके दिखाया।

मोबाइल टावर की मांग
मुख्यमंत्री ने कहा अजाजजा समाज के लोग मात्रात्मक त्रुटि के चलते जाति प्रमाण पत्र नहीं बनने से परेशान थे। पिछली किसी सरकार ने ध्यान नहीं दिया। पहले की सरकारों ने अबूझमाड़ का रास्ता रोक रखा था, भाजपा सरकार ने खोला तो वहां तक विकास पहुंचने लगा है। इसका प्रमाण मिला जब अबूझमाड़ के गांव पहुंचा तो लोगों ने पुल पुलिया, सड़क नहीं बल्कि गांव में मोबाइल टावर की मांग की। ये इस बात का प्रतीक है वहां के लोग भी आगे बढ़ने लगे हैं। जल्द ही सरकार 30 लाख लोगों को स्मार्ट फोन बांटेगी।

…जब सीएम बोले- मेरे पंखे में चूहा घुस गया है
मुख्यमंत्री के भाषण के दौरान महिलाओं के ठीक ऊपर लगा सीलिंग फैन अनियंत्रित होकर झूलने लगा जिससे अफरा-तफरी मच गई। लोग पलट कर देखने लगे तो मुख्यमंत्री ने कहा चूहा घुस गया है, आप बैठ जाएं। मुख्यमंत्री ने कहा सभी लोगों की नजर पंखे पर है, अब वह सुधर जाएगा। कार्यक्रम को शिक्षामंत्री केदार कश्यप, सांसद विक्रम उसेंडी, जीआर राणा, नरेंद्र बेसरे, बलदेव नायक ने संबोधित किया। कार्यक्रम में भोजराज नाग, किरण देव, लता उसेंडी, भरत मटियारा, हलधर साहू, देवलाल दुग्गा आदि उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.