Chhattisgarh

‘रमन मोबाइल’ के लिए अब पाटर्नर तलाश रही सरकार, सितंबर तक 31 लाख का लक्ष्य

रायपुर। गरीब परिवारों और कॉलेज स्टूडेंट्स को ‘रमन मोबाइल” (मुफ्त स्मार्ट मोबाइल फोन) बांटने के लिए छत्तीसगढ़ सरकार अब पाटर्नर तलाश रही है। सरकार दो चरणों में करीब 50 लाख 20 हजार स्मार्ट फोन बांटेगी। वितरण की शुरुआत मई 2018 से करने की योजना है। यह पहला चरण होगा, जो इस वर्ष सितंबर तक चलेगा। इस दौर में कुल 31 लाख फोन बांटने की तैयारी है। योजना के तहत मुफ्त स्मार्ट फोन बांटने के साथ ही राज्य के मोबाइल नेटवर्क कवरेज भी बढ़ाया जाना है। सरकार ने इसे स्काई यानि संचार क्रांति योजना नाम दिया है।

एक जीबी डेटा व 100 मिनट कॉलिंग फ्री

‘रमन मोबाइल” पर लोगों को एक साल तक हर महीने एक जीबी डेटा और 100 मिनट कॉलिंग मुफ्त रहेगी। हालांकि मोबाइल देने से पहले सरकार संबंधित का आधार नंबर और बैंक खाता का नंबर लेगी।

स्टूडेंट्स के मोबाइल का रेम 2 जीबी

गरीब परिवारों और स्टूडेंट्स को दिए जाने वाले मोबाइल का स्पेसिफिकेशन अलग- अलग रहेंगे। बीपीएल को मोबाइल फोन का डिस्प्ले 4 इंच और प्रोसेसर 1.2 जीबी का रहेगा। उसका रेम 1 जीबी रहेगा। वहीं, स्टूडेंट्स के मोबाइल का स्क्रीन पांच इंच का होगा। प्रोसेसर 1.4 जीबी और रेम दो जीबी का रहेगा। दोनों मोबाइल में रियर और फ्रंट कैमरा समेत और भी कई सुविधाएं रहेंगी।

एक हजार तक की आबादी वाले गांवों में पहुंचेगा नेटवर्क

योजना के तहत सरकार का लक्ष्य एक हजार और उससे अधिक आबादी वाले गांवों तक मोबाइल नेटवर्क पहुंचाने का है। स्काई योजना के तहत सरकार न केवल मोबाइल फोन बांटने बल्कि नेटवर्क के विस्तार के लिए भी पाटर्नर की तलाश कर रही है।

टॉवर के लिए स्थान 10 साल तक मुफ्त

टॉवर खड़ा करने वाले सेल्यूलर कंपनी को यदि सरकारी जमीन या भवन का इस्तेमाल करती है, तो उसे 10 साल तक जमीन या भवन का किराया नहीं देना पड़ेगा। हालांकि शर्त यह भी है कि कंपनी को टॉवर के लिए तीन स्थानों का विकल्प देना होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.