Business

यस बैंक: राणा कपूर के परिवार पर कसा ईडी का शिकंजा, देर रात पत्नी और बेटी से पूछताछ

यस बैंक के संस्थापक राणा कपूर की पत्नी और बेटी पर प्रवर्तन निदेशालय ने शिकंजा कस दिया है। रविवार रात को विदेश जाने की कोशिश कर रही राणा कपूर की बेटी रोशनी कपूर को मुंबई हवाईअड्डे पर ईडी के अधिकारियों ने रोक दिया। वह ब्रिटिश एयरवेज के विमान से लंदन जा रही थी।पत्नी और बेटियों से भी पूछताछ
रविवार रात करीब 10 बजे आरोपी राणा कपूर की बेटी और पत्नी ईडी के दफ्तर पहुंचीं, जहां करीब दो घंटे तक दोनों से पूछताछ की गई। उसके बाद देर रात उन्हें छोड़ दिया गया।। इस मामले में कुछ कंपनियों की अहम भूमिका सामने आ रही है, जिसे राणा के परिवार के लोग चलाते हैं। इनसे पूछताछ जरूरी है। वहीं, बचाव पक्ष के वकील ने कहा कि राणा को ईडी ने निशाना बनाया है, जबकि वह जांच एजेंसी से पूछताछ में सहयोग भी कर रहे हैं।

बता दें कि प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने यस बैंक के संस्थापक राणा कपूर और उनकी पत्नी बिंदू कपूर, बेटियों राखी कपूर टंडन, राधा कपूर और रोशनी कपूर के खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी किया था।

20 की घंटे की पूछताछ के बाद राणा कपूर गिरफ्तार
संकट में फंसे यस बैंक के संस्थापक राणा कपूर को पांच हजार करोड़ रुपये की मनी लॉन्ड्रिंग के आरोप में तकरीबन 20 घंटे की मैराथन पूछताछ के बाद रविवार तड़के तीन बजे गिरफ्तार कर लिया गया। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने बताया कि मनी लॉन्ड्रिंग रोकथाम अधिनियम के तहत राणा के खिलाफ यह कार्रवाई इसलिए की गई, क्योंकि वह जांच में सहयोग नहीं कर रहे थे।

राणा को 11 मार्च तक ईडी की हिरासत में भेजा गया
राणा को मुंबई की एक अदालत में पेश किया गया, जहां से उसे 11 मार्च तक ईडी की हिरासत में भेज दिया गया। इस बीच, केंद्रीय जांच एजेंसी सीबीआई ने भी गुपचुप तरीके से यस बैंक संकट के मामले में जांच की शुरुआत करते हुए दस्तावेज जुटाने शुरू कर दिए हैं। सूत्रों के मुताबिक, यस बैंक संकट के मामले में सीबीआई आपराधिक साजिश, धोखाधड़ी और भ्रष्टाचार के आरोपों की जांच करने जा रहा है। वह डीएचएफएल और यस बैंक के रिश्तों की भी पड़ताल कर रहा है।

इससे पहले ईडी ने कोर्ट को बताया कि 62 वर्षीय राणा, उनकी पत्नी बिंदु और तीन बेटियों राधा, रोशनी और राखी कपूर ने 600 करोड़ रुपये से ज्यादा की रकम एक कंपनी ड्वॉयट अर्बन वेंचर्स से हासिल की, जिसका नियंत्रण राणा की बेटियों के हाथ में है। ये रकम दीवान हाउसिंग फाइनेंस लिमिटेड (डीएचएफएल) ने दिए थे। पैसों का हेरफेर करने और वित्तीय अनियमितताएं बरतने के आरोप में डीएचएफएल की भूमिका भी जांची जा रही है।

यस बैंक के डेबिट कार्ड दूसरे बैंकों में भी चलेंगे
यस बैंक ने कहा है कि उसके डेबिट कार्ड दूसरे बैंकों के एटीएम पर भी चलेंगे। बैंक ने अपने एटीएम के बाहर लंबी कतार देखते हुए ट्विटर पर एक पोस्ट में कहा कि अब आप यस बैंक के डेबिट कार्ड से यस बैंक और दूसरे बैंक के एटीएम दोनों जगहों पर पैसे की निकासी कर सकते हैं।

बैंकों में जमा रकम की चिंता ना करें: आरबीआई
यस बैंक पर छाए संकट के बीच खाताधारकों की जमा राशि डूबने से जुड़ी खबरों को लेकर भारतीय रिजर्व बैंक ने स्थिति स्पष्ट कर दी है। आरबीआई ने एक वक्तव्य में कहा है कि कुछ बैंकों की जमा राशियों की सुरक्षा के बारे में मीडिया के कुछ वर्गों में चिंता जताई गई है, यह चिंता त्रुटिपूर्ण विश्लेषण पर आधारित है। आरबीआई सभी बैंकों पर कड़ी नजर रखता है और जमाकर्ताओं को आश्वस्त करता है कि किसी भी बैंक में उनकी जमा राशि सुरक्षित है और कोई चिंता की बात नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.