Business

2 मिनट में बेच डाली ये 6000 कार

भारत में भले ही कार कंपनी मारुति की कार सबसे ज्यादा खरीदी जाती है, लेकिन वह भी ऐसा रिकॉर्ड बनाने में नाकामयाब रही जैसा चीनी ऑटोमोटिव कंपनी गीली ने बनाया है. कंपनी ने तकरीबन एक साल पहले Lynk & Co नाम से ऑटोमोटिव स्टार्टअप शुरू किया था.

कंपनी ने ’01’ नाम से एक कॉम्पैक्ट एसयूवी बनाई और इस साल की शुरुआत तें इसे शोकेस किया. कुछ दिनों पहले ही इसे लॉन्च भी कर दिया गया. कार की कीमतों की घोषणा की गई और 17 नवंबर को इस एसयूवी के लिए 6,000 कारों का प्री-ऑर्डर आ गया. ये सभी 6,000 कारें महज 137 सेकंड्स में ऑनलाइन बुकिंग के जरिए बिक गईं. यह ऑटोमोटिव इतिहास में अब तक की सबसे जल्दी बिकने वाली कार बन गई है, जो कि एक रिकॉर्ड है.

इस ऐतिहासिक क्षण को सेलिब्रेट करते हुए Lynk & Co के वाइस प्रेजिडेंट ने कहा, ‘हमें गर्व हो रहा है कि यह कार इतनी तेजी से बिकी. दरअसल, अब सफर की शुरुआत हुई है.’  अभी Lynk & Co की 01 एसयूवी में पेट्रोल इंजन लगाए जा रहे हैं जो कि वोल्वो पावर प्लांट्स में बनाए जा रहे हैं. भविष्य में कंपनी इलेक्ट्रिक पावर प्लांट लगाने की योजना के साथ आगे बढ़ रही है. यह एसयूवी उसी CMA प्लैटफॉर्म पर बनी है जिसपर Volvo XC40 एसयूवी को बनाया गया है. भारतीय करंसी के हिसाब से देखें तो चीन में इस गाड़ी की शुरुआती रेंज 15 लाख से शुरू होकर 20 लाख रुपए तक जाती है. गीली भविष्य में भारत में भी कदम रख सकती है.

टीप: यह केवल प्रारम्भिक जानकारी है.अधिकृत जानकारी संबंधित कंपनी या उनके प्रतिनिधि से ही प्राप्त करें.

Leave a Reply

Your email address will not be published.