Business

सरसों तेल और रिफाइंड ने बिगाड़ा किचन का बजट, दालों ने तरेरी आंखें, आलू-प्याज और टमाटर पोछ रहे आंसू

कोरोना की मार से धीरे-धीरे उबर रहे आम आदमी की कमर को महंगाई ने तोड़ दी है। चावल-दाल हो या आटा, सरसों तेल हो या सोयाबीन का तेल या फिर चाय हो या नमक, एक साल में इनकी कीमतें इतनी बढ़ गई हैं कि किचन का बजट गड़बड़ा गया है। उपभोक्ता मंत्रालय की वेबसाइट पर दिए गए आंकड़ों के मुताबिक एक अप्रैल 2020 के मुकाबले एक अप्रैल 2021 को खाद्य तेलों की कीमतों में 47 फीसद, दालों में 17 फीसद और खुली चाय में 30 फीसद तक उछाल आ चुका है। वहीं चावल के रेट में 14.65 फीसद, गेहूं के आटे में 3.26 फीसद की बढ़ोतरी हुई है। अगर कोई चीज सस्ती हुई है तो गेहूं, चीनी, आलू, प्याज और टमाटर।

Leave a Reply

Your email address will not be published.